तंबाकू सुपारी खाने से होता है मुहं का कैंसर Oral Canser Reason


ओरल कैंसर सिर्फ तंबाकू खाने से नही होता है. सुगंधित सुपारी खाने से भी ओरल कैंसर हो रहा है, लेकिन लोगो को इसके बारे में अवेयरनेस नही है. युवाओ सहित महिलाए भी सुपारी खा रही हैं. सुपारी खाने से ओरल सब न्यूकस फाइबरोसिस होने के कारण यह मुह के कैंसर में तब्दील हो जाता है. आजकल युवा सुपारी के साथ-साथ मिक्स पैन मसाला आदि खा रहे है. इससे 18 से 30 साल की उम्र में कैंसर देखने को मिल रहा है.
सुगंधित और बिना सुंगंधित सुपारी खाने से मुह सुख जाता है. इससे मुह नही खुल पाता है. ओरल कैंसर होने की रिस्क बढ़ जाती है. दस परसेंट लोगो में सुपारी खाने से सब न्यूकस फाइबरोसिस कैंसर बन जाता है. इसके अलावा सब न्यूकस फाइबरोसिस नही होने पर भी कैंसर हो जाता है. इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च एंड कैंसर ने वर्ष 1980 में सुगंधित सुपारी से कैंसर होने की पुष्टि की थी.

यह भी पढ़े आकर्षित दिखने के लिए रखें इन बातों का ख्याल

इससे सिर्फ कैंसर नही होता बल्कि प्रेग्नेंसी में सुपारी खाने से बच्चे भी कमजोर पैदा होते है. उन महिलाओं की तुलना में जो सुपारी नही खाती हैं. डायबिटीज बढ़ने से ड्रग्स रेस्पॉन्स कम हो जाता है. लिवर से संबधित प्रॉब्लम हो सकती है. मुह का कैंसर तंबाकू चबाने और सुपारी के कॉम्बिनेशन से होता है. यह नम्बर वन कैंसर है. ओरल केविटी से भी मुह का कैंसर हो सकता है. मिनिस्ट्री और हैल्थ ने 20 नवम्बर, 2016 में हर राज्य में ब्रेस्ट,सर्विक्स और मुह के कैंसर के लिए स्क्रीनिंग अनिवार्य कर दी गई है.

0 Response to "तंबाकू सुपारी खाने से होता है मुहं का कैंसर Oral Canser Reason"

Post a Comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel