क्या हे शारीरिक उत्पीड़न और कैसे बचें इससे..Physical Abuse Se Kaise Bache


कई बार ऑफिस में, किसी function में, public place में या किसी भी जगह आप पर टिप्पणी की जाए, आपका मजाक बनाया जाए, आपको गलत नजरों से देखा जाये, आप को छुने की कोशिस की जाए, social sites पर अभद्र message किये जाए यह सब शारीरिक उत्पीड़न के श्रेणी में आते हे. बहुत सारी महिलायें और लडकियां इसका शिकार होती हे. लेकिन बदनामी, नोकरी जाने या डर की वजह से आवाज नहीं उठा पाती. आज की इस पोस्ट में, में आपको बताऊंगा की अगर आपको लग रहा हे की आपका शारीरिक उत्पीड़न हो रहा हे तो क्या करें और क्या ना करें.
1. जो हो रहा हे वो गलत हे आपकी कल्पना नहीं
अगर आप यह सोच रहे हे की एरे साथ जो हो रहा हे वो कल्पना हे, तो शायद आप गलत हे. अगर आपको लग रहा हे की आप पर टिप्पणी की गयी हे, अभद्र इशारे किये गए हे, आपको छुने की कोशिस की जा रही हे तो आपका शक सही हे की आपका शारीरिक उत्पीड़न हो रहा हे और अपने शारीरिक शोषण को कल्पना का नाम ना दे. READ HERE - सेक्स के दोरान इन बातों से डरती हे महिलाएं

2. इसके खिलाफ आवाज उठायें
जब ऐसा हो रहा हे तो इसके खिलाफ अपनी आवाज को बुलंद करें. अगर office में ऐसा हो रहा हे तो यह ना सोचें की नोकरी चली जाएगी, बदनामी होगी, समाज में सामना कैसे करेंगे. जो गलत हे वो गलत हे. अगर वो आपके पास आने की कोशिस कर रहे हे और आपको पसंद नहीं हे तो आप उसे मना कर दे, कह दे की उसे इतनी नजदीकी पसंद नहीं हे. उसे अभद्र मजाक पसंद नहीं हे. तो उसे मना कर दे. इसके बावजूद वो नहीं माने तो पुलिस में शिकायत करें और उसके खिलाफ कार्यवाई करें. अगर office में ऐसा हो रहा हे तो अपने हेड को सूचित करें.

3. इसे नजरंदाज़ ना करें
शारीरिक का मतलब यह नहीं की शारीरक रूप से ही आपका उत्पीड़न हो. अगर आपको कोई गलत मेसेज कर रहा हे, गलत टिप्पणी कर रहा हे और आप उससे असहज महसूस कर रहे हे तो इसे नजरंदाज़ ना करें. कोई कह दे की में तो मजाक कर रहा था तो काफी नहीं हे. अगर आपको पसंद नहीं हे तो नहीं हे तो इस मामले में सख्ती बरतें. READ HERE - स्वप्नदोष से कैसे बचें

4. खुद को दोष ना दे
आपने क्या पहना था, आप क्या कर रही थी, आप क्या बोल रही थी इसके लिए खुद को दोष ना दे. आपको भी सभी की तरह freedom का अधिकार हे. आपकी इसमें कोई गलती नहीं हे. इसलिए अगर ऐसा हो रहा हे तो अपनी आवाज की बुलंद करें और कार्यवाई करें.

5. मदद मांगे
अगर ऐसा हो रहा हे तो अपने परिवार, दोस्तों को बताएं. चुप रहकर अकेले में घुटन महसूस ना करें. इस मानसिक समस्या से बाहर निकलने की लिए आपको उनकी मदद की जरूरत पड़ेगी, इसलिए उनसे मदद मांगे. किसी का हक नहीं की आपका शारीरक शोषण करें. आप एक नारी हे और नारी शक्ति की होड़ कोई नहीं कर सकता.

0 Response to "क्या हे शारीरिक उत्पीड़न और कैसे बचें इससे..Physical Abuse Se Kaise Bache "

Post a Comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel