nightfalls meaning - रात में अथवा दिन में नींद में सोते हुए बिना सम्भोग किये हुए ही वीर्य निकल जाना स्वप्नदोष कहलाता हे वर्तमान में स्वप्नदोष युवावस्था की आम समस्या हे चूँकि यह क्रिया नींद में या स्वप्न में होती हे इसलिए इसे स्वप्नदोष कहते हे ! स्वप्नदोष को लेकर युवाओं में और किशोरों में तरह तरह की भ्रान्तिया हे ! इन भ्रांतियों की वजह से वे अपने आप को कमजोर, हीन और अपराधी मानते हे !

स्वप्नदोष से पीड़ित युवक(Boys and girls) इसकी इलाज की खोज में विज्ञापन के चक्कर में फंसकर मानसिक रूप से त्रस्त हो जाते हे तथा आर्थिक रूप से भी हानि उठाते हे ! सामान्य भाषा में इसे धातु निकलना भी कहते हे ! लोगो का यंहा तक भी मानना हे की इस से अत्यधिक कमजोरी आ जाती हे और नपुंसकता के शिकार हो जाते हे ! लेकिन वे यह नहीं जाने की यह एक जैव वैज्ञानिक क्रिया हे कोई रोग नहीं हे ! आयुर्वेद के द्वारा इस से छुटकारा पाया जा सकता हे ! स्वप्नदोष अधिकतर अविवाहित युवकों में पाया जाता हे लेकिन कभी-कभी यह विवाहित पुरुषों में भी हो सकता हे ! हमारी उतेजना को शांत करने के लिए प्रकृति स्वप्नदोष का सहारा लेती हे ! अत: इस प्रकार का स्वप्नदोष स्वभाविक होता हे ! इसे रोग नहीं मानना चाहिए ! यदि पहली बार किसी को स्वप्नदोष होता हे तो वो इसे रोग मानकर इलाज के चक्कर में फंस जाता हे ! लेकिन वो यह नहीं जनता की 15 - 30 वर्ष की आयु के पुरुषों के लिए यह एक स्वभाविक क्रिया हे जिसका होना एक आवश्यक कर्म भी हे nightfall problem solution in hindi
१. कारण Night falls reason - कामुकता पूर्ण विचार, अत्यधिक संयम यानी वीर्य को स्खलित ना होने देना यह स्वप्नदोष के प्रमुख कारण हे ! कब्ज़, रात को अधिक भोजन करना, भोजन के तुरंत बाद सो जाना, बिना सोचे समझे खान-पान, रात में मूत्र त्याग की इच्छा होने पर भी मूत्र त्याग ना करना, भारी चीजो का सेवन करना, नशा करना आदि स्वप्नदोष के कारण हे ! सिनेमा, ब्लू फिल्मे, अश्लील चीजे देखना आदि भी स्वप्नदोष के कारण हे !

२. लक्षण nightfall causes - स्वप्नदोष के बाद थकावट, सुस्ती, उदासी बनी रहती हे ! स्मरण शक्ति में कमी आ जाती हे ! हाथ पैरो में कंपन, किसी काम में मन ना लगना, किसी काम के दोरान जल्दी थकना, आँखों के आगे अँधेरा आ जाना, कमर व पीठ में दर्द होना, हाथ पैरो और तलवो में जलन, दांतों में अधिक मेल जमना, शरीर से बदबू आना, अजीर्ण और कब्ज़ रहना, अधिक पेशाब आना, वीर्य पानी की तरह पतला हो जाना तथा शुक्राणुयों की कमी आ जाना आदि इसके लक्षण हे !

३. चिकित्सा treatment - स्वप्नदोष शारीरिक और मानसिक दोनों कारण से उत्पन्न होता हे ! इसलिए इन दोनों कारणों को दूर करना जरुरी हे ! स्वप्नदोष अधिक घातक नहीं होता इसलिए ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं हे ! इसके लिए मनुष्य कामुक चिंतन ना करे, कब्ज़ ना होने दे, अपने योन अंगो को साफ़ रखें, योन शक्ति बढाने वाली दवाईयों का सेवन ना करे ! स्वप्नदोष रात्रि के चोथे पहर में होता हे इसलिए जल्दी सोना और जल्दी उठाना चाहिए ! स्वप्नदोष का प्रमुख कारन कब्ज़ हे इसलिए सबसे पहले कब्ज़ को दूर करना चाहिए ! हरी सब्जियों, फल, दूध आदि का सेवन करना चाहिए इस से कब्ज़ की शिकायत नहीं रहती हे ! सुबह शाम टहलना चाहिए ! सिर ऊँचा करके सोना, नाक से श्न्वास लेना, आदि भी स्वप्नदोष को दूर करने में सहायक हे !

check que?.ans

  1. sir mujhe na swap dosh hi na hi me nasha karta hu our nahi filam dekhta hu kya hi ke shote time nikal jata hi what

    ReplyDelete
  2. Kabhi kabhi agar aisa hota hai to sperm ke adhikta se hota hai .. ek normal bhi ho skta hai but?.. agr daily problem hai to ilaj karaye

    ReplyDelete
  3. Sir mera night fall nahi band ho raha hai kya karu bahut patala ho gaya hu upaye batiye please

    ReplyDelete

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..