यहाँ क्लिक कर मेक इंडिया सब्सक्राइब जरूर करे
All DTH company offering exchange service आप अपने डीटीएच या फिर केबल टीवी ऑपरेटर की सर्विस से खुश नहीं हैं तो दो महीने बाद से इसको सरलता से पोर्ट कर सकेंगे. doordarshan dth set top box price dth set top box online shopping set top box price list videocon set top box price local cable set top box hd set top box for cable tv set top box for cable tv price videocon dth इसके लिए आपको नया सेट टॉप बॉक्स (एसटीबी) भी अलग से नहीं लेना पड़ेगा. दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) जल्द ही ऐसा करने के लिए नए नियम जारी करने जा रहा है. अक्टूबर में प्रारम्भ हुआ था ट्रायल

ट्राई का सेट टॉप बॉक्स पोर्टेबिलिटी का ट्रायल पास रहा है. बता दें कि पिछले वर्ष अक्टूबर में ट्रायल प्रारम्भ हुआ था. वहीं ट्राई ने फरवरी 2016 में डीटीएच या केबल सर्विस प्रोवाइडर के पोर्टेबिलिटी के लिए कंस्लटेशन प्रारम्भ किया था.

इसके लिए सीडॉट ने ट्रायल भी प्रारम्भ कर दिया है व 1 महीने के अंदर पोर्टेबिलिटी को लॉन्च किया जा सकता है. डीटीएच या केबल सर्विस प्रोवाइडर के पोर्टेबिलिटी को लागू करने से पहले ट्राई सभी स्टेकहोल्डर्स से मुलाकात भी करेगा.

ट्राई इस वर्ष देगा बड़ा गिफ्ट
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) का कहना है कि इस वर्ष सेट टॉप बॉक्स (एसटीबी) के माध्यम से विभिन्न चैनल का मजा लेने वाले उपभोक्ताओं को राहत मिल सकती है. ट्राई इस बात की पूरी प्रयास कर रहा है कि इस वर्ष से बिना सेट टॉप बॉक्स बदले उपभोक्ता अपने डीटीएच ऑपरटेर्स को बदल सके.

अभी बदलना पड़ता है एसटीबी
वर्तमान में उपभोक्ता अपने डीटीएच ऑपरेटर्स को बदलता है तो उसे अपने पुराने सेट टॉप बॉक्स को भी बदलना पड़ता है. मान लिजिए अगर कोई उपभोक्ता किसी भी डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर की सर्विस से खुश नहीं है तो फिर उसे नया कनेक्शन व एसटीबी खरीदना पड़ता है. नया कनेक्शन लेने के लिए उसे कम से कम 1500 से लेकर के 2 हजार रुपये खर्च करने पड़ते हैं.

ट्राई उपभोक्ताओं को हर बार नए सेट टॉप बॉक्स के झंझट से राहत दिलाना चाहता है. इस मामले में ट्राई ने डीटीएच कंपनियों के साथ मीटिंग भी की है. इस मामले पर कंपनियों के साथ विस्तृत चर्चा की गई व इससे जुड़े तकनीकी मुद्दों पर भी बात की गई.

ट्राई के वरिष्ठ ऑफिसर के मुताबिक बिना एसटीबी बदले ऑपरेटर्स बदलने का निदान लगभग निकल चुका है. बताते चलें कि पिछले एक वर्ष से भी अधिक समय से ट्राई की तरफ से इस मामले में उपभोक्ताओं को राहत देने की प्रयास की जा रही है, लेकिन अब तक सफलता नहीं मिली है.

कोई भी सवाल पूछे ?.या Reply दे

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..