कश्मीरी युवाओं को खेलों के जरिए मुख्यधारा में लाने की कोशिशो के ऊपर नया हमला सामने आया है। कश्मीर के कई शहरों में ऐसे सप्लीमेंट की आपूर्ति की गई है जिनमें विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी वाडा की ओर से 

प्रतिबंधित दवा पाई गई है। इन सप्लीमेंट्री को खुद राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी वाडा ने जबत करते हुए उनका परीक्षण कराया। जिसमें प्रतिबंधित स्टिमुलेन स्ट्रीकनीन पाया गया है।

वाडा ने तत्काल प्रभाव से सभी सप्लीमेंट को मार्केट से उठाने के निर्देश दिए हैं। वाडा के महानिदेशक नवीन अग्रवाल को सप्लीमेंट के बारे में सूचना कश्मीर के ही लोगों ने दी। कश्मीर में युवाओं को खेलों से जोड़ने के लिए केंद्र की ओर से 200 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है। इस राशि से छोटे इंडोर स्टेडियम बनाए जा रहे हैं। वही युवा खेलों से जुड़ने के लिए बाजार में उपलब्ध फूड सप्लीमेंट का भी उपयोग कर रहे हैं।

वही भारत में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर को बार-बार विकास के लिए पैसा देने पर नाखुश है। उन लोगों का कहना है कि जम्मू कश्मीर के लोग भारत से ही पैसा लेते हैं और भारत को ही गाली देते हैं इसलिए भारत को जम्मू कश्मीर के विकास में कम सहयोग करना चाहिए।

कोई भी सवाल पूछे ?.या Reply दे

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर