बिटकॉइन क्या है Bitcoin कैसे बनता है संसार की साइबर करेंसी के बारे में

यहाँ क्लिक कर अपने दोस्तों को बधाई मोबाइल पर भेजे अभी
Bitcoins in hindi bank accepted in india atm आज Bitcoins की लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही हैं बिटकॉइन में निवेश बिटकॉइन का इतिहास बिटकॉइन प्राइस bitcoin price bitcoin rate bitcoin india बिटकॉइन प्राइस इन इंडिया बिटकॉइन एड्रेस हालांकि शुरुआत में काफी हद तक यह सट्टेबाजों को बहुत भाया क्योंकि उनके लिए इसमें रूपये कमाने के रस्ते दिखाई दिए।  

जो एक तरह से कम कीमत पर Bitcoins खरीदने और उन्हें ऊंचे दामों पर बेचकर पैसा बनाने के लिए के रूप में इसे देख रहे थे। लेकिन अब व्यवसाय में बिटकॉइन (Bitcoins) का चलन तेजी से बढ़ रहा है। बिटकॉइन 
Bitcoin is a cryptocurrency and an electronic payment system[14]:3 invented by an unidentified programmer, or group of programmers, under the name of Satoshi Nakamoto.

बिटकॉइन (Bitcoin) क्या है?
Bitcoin एक डिजिटल सम्पति और एक भुगतान प्रणाली की मुद्रा है जिसका आविष्कार सातोशी नकमोटो ने वर्ष 2008 में किया था और 2009 में Open Source Software के रूप में इसे जारी किया गया है। Bitcoin एक virtual currency यानि आभासी मुद्रा है जो ऑनलाइन/ इलेक्ट्रॉनिक खरीद और हस्तांतरण के लिए उपयोग की जाती है। 

आप Bitcoins का उपयोग दोस्तों, रिश्तेदारों व व्यापारिक कामों के लिए कर सकते हैं। हर एक खरीद पर डिजिटल लॉगइन होता है और हस्तांतरण लॉग भी विनिमय के साथ update हो जाता है | इससे साथ के साथ पता चल जाता है कि कौन कितने Bitcoins का मालिक है। 

Bitcoins का मूल्य निर्धारण कैसे होता है?
Bitcoins किसी अन्य मुद्रा की तरह ही हैं। वे अन्य मुद्राओं के मूल्य की तरह ही उतार-चढ़ाव में आते रहते हैं। हर बार एक Bitcoin खरीद से इसके स्वामित्व में परिवर्तन होता रहता है तथा विनिमय के समय विक्रेता और खरीददार की mutual agreement पर इसकी कीमत का निर्धारण होता है। 

आमतौर पर, Bitcoins का मूल्य इस बात पर निर्भर करता है कि खरीददार किस दर से Bitcoins अन्य को कारोबार में बेचता है। इसका एक उचित मूल्य देना बेचने वाले की जिम्मेदारी है। Bitcoins और अन्य मुद्राओं के बीच अंतर यही है की इसमें कोई केंद्रीकृत बैंक नहीं है जो मुद्रा print करे और मूल्यों का निर्धारण करे। लेन-देन में आपूर्ति और मांग के माध्यम से Bitcoins के मूल्य में उतार चढ़ाव होता रहता है।

Bitcoins कैसे बनते हैं?
कुछ उपयोगकर्ता अपने कंप्यूटर से peer-to-peer network में लेन-देन की पुष्टि करने के लिए कार्य करते हैं। ये उपयोगकर्ता जितनी ज्यादा कंप्यूटिंग शक्ति से नेटवर्क में योगदान देते हैं उसी अनुपात में उन्हें नए Bitcoins मिलते हैं।

2 comments:

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर

Powered by Blogger.