Featured Posts

इस कहानी को पढ़कर आप कहेंगे थैंक्यू जिंदगी Story For Thnku Life

आज बस में मैने एक सुंदर महिला को देखा और ईश्वर से प्रार्थना की कि में उसकी तरह सुंदर हो जाऊ. जब वह सुंदरी जाने को हुई तो मैने देखा की उसका एक पैर नही था और वह बैसाखी के सहारे चल रही थी. जाते समय वह मुस्कुराई. मैं कुछ देर तक स्तब्ध सोचती रही, हे ईश्वर मुझे मेरी प्रार्थना के लिए माफ़ कर देना, आपने मुझे दो पैर दिए हैं, ऐसा लग रहा है मानो पूरा संसार मेरा है.
इसी उधेड़बुन में कुछ दूर ही चली थी की दुकान दिखाई दी, जहा एक लड़का बड़े ही उत्साह से टॉफियां बेच रहा था. मैं टॉफी खरीदने के लिए रुकी. मुझे कही जाने की जल्दी नही थी तो मैने आराम से उससे बात की. मेरी बातचीत से वह बहुत खुश हो गया. जब मैं जाने के लिए मुड़ी तो उसने कहा, 'धन्यवाद आप बहुत दयालु हैं, आप जैसे लोगो से बात करके बहुत ख़ुशी होती है, आप देख ही रही हैं कि में नेत्रहीन हु. 'मैं समझ नही पाई की मैं क्या जवाब दू इस बात का. किसी तरह से खुद को शांत किया और वहां से निकली. मैंने ईशवर को दो आँखे देने के लिए धन्यवाद दिया.

यह भी पढ़े एक ऐसा देश जहाँ 100 ओरतों पर हे 86 मर्द

में सड़क पर चल रही थी की मैंने एक बच्चे को देखा, जिसे मैं जानती थी. वह वहा पर खड़ा होकर सामने खेल रहे बच्चो को देख रहा था. वह समझ नही पा रहा था की वह क्या करे. मैं एक मिनट के लिए रुकी, फिर उससे कहा, 'तुम उसके साथ खेलते क्यों नही', वह बिना कुछ कहे सामने देखता रहा. मै भूल गई थी की वह बच्चा सुन नही सकता. हे ईश्वर मुझे क्षमा करना, में बहुत खुशकिस्मत हु जो मेरे पास दो कान भी हैं.

Authorised by:

यहाँ मिलेगी सबसे फ़ास्ट खबरे जो आपके विचारो से जुडी है किसी विशेष जानकरी को पूरी डिटेल में जानने के लिए हमें कमैंट्स कर बताये हमारे बारे में यहाँ से अधिक जाने !

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर

www.CodeNirvana.in

welcome
Copyright © kaise hota hai, how to, mobile phones price in hindi, keemat kya hai | Contact | Privacy Policy | About me