यहाँ क्लिक कर मेक इंडिया सब्सक्राइब जरूर करे
keel muhase ka ilaj in hindi keel muhase in english keel muhase ka upchar keel muhase meaning in english keel muhase ki cream 
किशोरावस्था के अंत में और नवयुवा अवस्था के प्रारम्भ में शरीर में हॉर्मोनल परिवर्तन होते हैं. यौनांगों का विकास होता है, मन में यौन सम्बन्धी भावना या उत्तेजना का अनुभव शुरू होता हैं. साथ ही पेट साफ न रहना, कब्ज रहना, शरीर की प्रकृति उष्ण होना, तले व् खट्टे पदार्थो का अधिक सेवन आदि कारणों से चेहरे पर कील मुँहासे निकलने लगते हैं. त्वचा पर तैलीय स्त्राव त्वचा के पोरों को बंद कर देता हैं. व् मुँहासे का रूप ले लेता हैं.
चिकित्सा ayurvedic treatment for pimples and marks in hindi kil 
1. दिन में 4-5 बार ठण्डे पानी से मुँह को धोना चाहिए.

2. हफ्ते में एक बार भाप लेनी चाहिए (गर्म पानी करके बाल्टी में डाल ले, चेहरा उससे एक-डेढ़ फुट ऊपर रख कर तौलिया सिर के ऊपर रखे. बीच-बीच में चेहरा निकाल ली. ऐसा 15-20 मिनट तक करे.)

3. पेट साफ रखें. कब्ज न होने दें.

ये भी पढ़े -धुम्रपान नशा छोड़ने के उपाय

4. पानी खूब पीना चाहिए. पानी की कमी से भी मुँहासे निकलते हैं. स्वस्थ मनुष्य को दिन भर में 3 लीटर 12 से 15 गिलास पानी पीना चाहिए.

5. खट्टी एवं मिर्च-मसालेदार वस्तुओं का सेवन न करे.

6. किसी भी प्रकार की उत्तेजना एवं कामुक चिंतन से बचे.

7. मुहाँसो को फोड़ना या नोचना नही चाहिए. इससे वे और भी फैल जाते हैं. और त्वचा पर स्थायी दाग पड़ जाते हैं.

विशेष- एक सर्वेक्षण के द्वारा यह पता लगाया है कि जिन को कील मुहाँसो को समस्या आती है वह लोग पानी न के बराबर पीते है उसी कारण पेट की गर्मी शांत नही होती और वही गर्मी मुख मण्डल पर मुहाँसो का रूप ले लेती है. अर्थात पानी पीने का विशेष ध्यान रखे.Muhase Pimple, Acne, Daag Gharelu Upchar Ilaj Upay Nuskhe

कोई भी सवाल पूछे ?.या Reply दे

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..