पैरासिटामोल को बुखार की आम दवा के रूप में जाना जाता हे. यह घर घर में मौजूद एक आम दवा है इसके कई नाम है जैसे क्रोसिन, काल्पोल आदि. लेकिन क्या आप जानते हे की इसका ओवरडोज़ आपके health के लिए कितना नुकसानदायक हे. आज की इस पोस्ट में, में आपको पैरासिटामोल के कुछ चोकाने वाले तथ्य बताऊंगा.

पैरासिटामोल के ओवरडोज़ से क्या नुकसान हो सकते हे
1. ओवर डोज़ से लीवर फेल होने से मृत्यु का सबसे बड़ा कारण बनता हे.
2. ज्यादा दिन लगातार लेने से किडनी फेल हो जाती है.
3. लगातार लेने से लीवर पर बुरा असर पढता है और पीलिया हो जाते हे.

ओवरडोज क्यों होता है.?

डाक्टर की लापरवाही से
बुखार से पीड़ित डाक्टर के पास आने पर पहले से पैरासिटामोल ले रहा होता है. डाक्टर अपनी चतुराई दिखा कर उसे 'एसिटामिनोफिन' लेने को कहते है जो की पैरासिटामोल का दूसरा नाम है. मरीज़ इन दोनों को अलग दवा समझ कर दोनों लेता है और नतीजा होता हे ओवरडोज.इसलिए इनके ज्यादा इस्तेमाल से बचें. हो सके तो इसका इस्तेमाल करें ही ना इसकी जगह आयुर्वेद का इस्तेमाल करे. क्योकि पैरासिटामोल के साइड इफ़ेक्ट भी होते हे, जिससे बुखार भले ही कुछ टाइम के लिए ठीक हो जाये लेकिन साथ में अन्य बीमारियाँ पैदा हो जाती हे.

कोई भी सवाल पूछे ?.या Reply दे

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर