कहानी जो यह बताती हे की मुफ्त में कुछ नहीं मिलता...Story For No Free Lunch In Hindi

यह एक ऐसे राजा की कहानी हे जिसने अपने सलाहकारों को बुलाया और कहा की वे सदियों के ज्ञान की बाते इकटठा करके लिखें ताकि वे उसे आने वाली पीढ़ियों को दे सकें. काफी मेहनत करने के बाद उन सलाहकारों ने बुद्धिमता पर कई ग्रन्थ लिख डाले और राजा के सामने पेश किये. राजा ने अपने सलाहकारों से कहा की वे इतने लम्बे हे की इन्हें कोई पढ़ नहीं पायेगा, इसलिए इन्हें छोटा करना पड़ेगा. सलाहकारों ने फिर मेहनत की और एक ग्रन्थ बनाके लाये. राजा ने फिर वही बात दोहराई. फिर वापस गए और पाठ में लेकर आये. राजा इससे भी संतुस्ट नही हुआ, और उसे और छोटा बनाने को कहा और अब सलाहकारों ने फिर मेहनत की और एक पन्ने में लिखकर लाये लेकिन राजा अब भी संतुस्ट न हुआ. राजा तब तक संतुस्ट न हुआ जब तक वे सिर्फ एक वाक्य नहीं बनाकर लाये और वह वाक्य था- “दुनिया में कोई भी चीज मुफ्त में नहीं मिलती.” 


हर संस्था और समाज में कुछ मुफ्त खोर होते हे. वे यही लोग हे जो बिना कोई कीमत चुकाए फायदा उठाना चाहते हें इने मुफ्त के माल की तलाश रहती हे. अक्सर ऐसा कम्पनी और संस्थाओ में देखा जाता हे की जयादातर सदस्य खुद तो कुछ काम नही करते, लेकिन काम करने वाले लोगो की कोसिस और मेहनत का पूरा फायदा उठाना चाहते हे. इसलिए हमेशा हर चीज की कीमत चुकाना सीखिए.

0 Response to "कहानी जो यह बताती हे की मुफ्त में कुछ नहीं मिलता...Story For No Free Lunch In Hindi"

Post a Comment

Thanks for your valuable feedback.... We will review wait 1 to 2 week 🙏✅

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Follow on