दुनिया के टॉप 10 हैकर की कहानी worlds hacker


जब से कंप्यूटर का आविष्कार हुआ है तब से लेकर आजतक दुनिया में काफी बदलाव हुये हैं । इसी वजह से लोगों का काम करने का तरीका भी बदला है। कंप्यूटर ने हर किसी की ज़िन्दगी बदल दी है।

आजकल टेक्नोलॉजी की दुनिया में युद्ध हथियारों के ज़ोर पर नहीं, बल्कि टेक्नोलॉजी के दम पर लड़े जाते हैं। अब अगर ऐसे में कोई इसी टेक्नोलॉजी में सेंध लगाकर सबकुछ बर्बाद कर दे तो सोचिये क्या होगा?

पूरा देश टेक्नोलॉजी पर निर्भर है अगर कोई सिस्टम में घुसकर सब कुछ बर्बाद कर दे तो क्या होगा ?

जी हां, हैकर ऐसा कर सकते हैं। आज हम आपको बतायेगे दुनिया के टॉप 10 हैकर की कहानी, जिनके कारनामो से दुनिया सन्न रह गई।
1. जोनाथन जेम्स -

जोनाथन जेम्स का पूरा नाम जोनाथन जोसफ जेम्स है।अमेरिका में 12 दिसंबर 1983 को पैदा हुए जोनाथन जेम्स को इंटरनेट की दुनिया 'कामरेड' नाम से जानती है। वो आज इस दुनिया में नहीं है, पर महज 15 साल की उम्र में जेम्स ने ऐसे ऐसे कारनामे किये जिससे उन्हें सबसे बड़े हैकर होने का खिताब दिया जाता है। इतनी कम उम्र में ही जेम्स ने वो महारत हासिल कर ली थी जिससे वो अमेरिकी सरकार को बर्बाद कर सकते थे। जोनाथन अमेरिकी सरकार के लगभग सभी डाटाबेसों तक पहुंच रखते, यहां तक कि, रक्षा विभाग और नासा के नेटवर्क भी उसकी पहुंच से बाहर नहीं थे। एक बार जेम्स ने नासा के नेटवर्क से अंतरिक्ष स्टेशन संचालन की पूरी जानकारी निकाल ली। जिसकी वैल्यू 17 लाख डॉलर के बराबर थी। मजबूर होकर नासा को अपना नेटवर्क पूरे 3 सप्ताह तक बंद करना पड़ा। बाद में 2007 में जोनाथन को पुलिस ने पकड़ लिया और तमाम आरोप लगाए। जेम्स ने आरोपों से आहत होकर 18 मई 2008 को आत्महत्या करली।

2. केविन मिटनिक -

केविन मिटनिक का पूरा नाम केविन डेविड मिटनिक है। केविन का जन्म अगस्त 6, 1963 को हुआ।
केविन के कंप्यूटर हैकर बनने की कहानी बेहद दिलचस्प है। मिटनिक अमेरिका का मोस्ट वांटेड साइबर अपराधी बन गया था। दो हॉलीवुड फिल्में केविन की जिंदगी पर भी बन चुकी हैं। मिकनिक ने 5 साल जेल में बिताये क्योंकि उसने अमेरिका के नेशनल सिक्योरिटी एलर्ट प्रोग्राम में सेंध लगाने के साथ ही कॉरपोरेट सीक्रेट्स भी चुराए थे। मिटनिक ने 5 साल जेल में बिताने के बाद खुद को बदल लिया और बाद में वो कंसल्टेंट बन गया। साथ ही लोगों को कंप्यूटर सिक्योरिटी पर टिप्स देने लगा। फिलहाल मिकनिक साइबर सिक्योरिटी की दिशा में काम करने वाली खुद की कंपनी चला रहा है।

3. अल्बर्ट गोंजालेज -

अल्बर्ट गोंजालेज ने हैकिंग के द्वारा लगभग अमेरिका की आधी आबादी के क्रेडिट डेबिट कार्ड्स की डिटेल्स को चुरा लिया था। 17 करोड़ लोगों के क्रेडिट-डेबिट कार्ड की डिटेल्स बेचकर अल्बर्ट गोंजालेज ने करोड़ों कमाए। उसने एक ग्रुप बनाया शैडोक्यूस नाम से। जिसके द्वारा उसने फर्जी पासपोर्ट, फर्जी हेल्थ इंश्योरेंस कार्ड और फर्जी जन्म प्रमाणपत्र बेचकर खूब कमाई की। अल्बर्ट गोंजालेज को पकड़े जाने के बाद 20-20 साल की दो सजाएं सुनाई गईं, जो साथ-साथ चल रही हैं।

4. केविन पॉलसन - 

केविन पॉलसन हैकिंग की दुनिया का जाना माना नाम।पॉलसन को 'डार्क दांते' के नाम से भी जाना जाता है।
पॉलसन ने एक रेडियो स्टेशन का सिस्टम हैक करके एक शो जीत लिया था। इस दौरान उसने करीब 15 मिनट तक सभी फोन लाइनों पर कब्जा जमाए रखा। शो को जीतने के बाद उसे एक कार उपहार में दी गई। कार का मालिक बनने के बाद उसपर एफबीआई की नजर गई। बाद में उसने एफबीआई को ही अपना निशाना बनाया और एफबीआई के पूरे सिस्टम को हैक कर लिया। इतना ही नहीं केविन पॉलसन ने एक सुपरमार्केट के पूरे सिस्टम को हैक कर लिया। इसके लिए उसे 51 माह की सजा सुनाई गई। सजा काटने के बाद केविन पॉलसन ने पत्रकारिता की राह पकड़ी और मौजूदा समय में वायर्ड न्यूज का वरिष्ठ संपादक है। केविन पॉलसन ने बाद में अमेरिकी पुलिस की मदद की और सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट 'मायस्पेस' पर सक्रिय 744 यौन अपराधियों की पहचान में अहम भूमिका निभाई।

5. गैरी मैकिनॉन -
गैरी मैकिनॉन इंटरनेट की दुनिया में 'सोलो' के नाम से मशहूर है। उसने दुनिया के सबसे बड़े मिलिटरी ऑपरेशन के सिस्टम को हैक कर लिया था। गैरी ने 13 माह काम करके अमेरिकी सेना और नासा के 97 कंप्यूटरों पर पूरा नियंत्रण पा लिया था। बाद में गैरी मैकिनॉन ने कहा कि वो सिर्फ यूएफओ और सौर ऊर्जा पर नियंत्रण के उपाय ढूंढ रहा था। पर अमेरिकी अधिकारियों ने मुताबिक उसने 300 कंप्यूटरों पर अपना नियंत्रण जमाया और अनगिनत बेहद संवेदनशील फाइलों को डिलीट कर दिया। इससे अमेरिकी सरकार को 70 लाख डॉलर का नुकसान हुआ। गैरी मैकिनॉन 15 साल से अपना मुकदमा अमेरिकी सरकार के खिलाफ लड़ रहा है।

6. जीनसन जेम्स एंचेता -
जीनसन को हैकरों का गुरु कहा जाता है। जीनसन ने 2004 में ऐसा खतरनाक वायरस बनाया, जो किसी भी कंप्यूटर में जाते ही उसके लॉग-इन डिटेल्स हैकर तक पहुंचा देता था। जीनसन ने अपने बनाये हुए वायरस की मदद से घर बैठे ही 5 लाख कंप्यूटर हैक किये। 10वीं फेल जीनसन ने हैक किये हुए कंप्यूटरों से कई सारी वेबसाइटें हैक कीं और उनके मालिकों से पैसा वसूला।जीनसन को एफबीआई ने पकड़ने के लिए 2005 में स्टिंग ऑपरेशन किया। 5 साल की जेल की सजा होने के साथ ही जीनसन से उसकी बीएमडब्ल्यू कार भी छीन ली गई।

7. जॉर्ज हॉट्ज -

जॉर्ज हॉट्ज को बेड हैकर कहना गलत होगा। क्यूंकि जॉर्ज हॉट्ज ने कभी हैकिंग से किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया। जॉर्ज हॉट्ज ने तो सिर्फ तकनीक की खामियों को खोजा और कंपनियों को उसे सुधारने के लिए मजबूर कर दिया। खासतौर पर एप्पल जैसी कंपनी को। जॉर्ज हॉट्ज ने एप्पल आईफोन के सभी मॉडलों का तोड़ निकाला और उसे अपने ब्लॉग पर लिख दिया दिया। जॉर्ज हॉट्ज ने आईफोन, आईपैड के साथ ही आईपॉड की भी कमियां सबके सामने पेश कीं। बाद में एप्पल ने जॉर्ज हॉट्ज पर केस लगा दिया और उसको कोर्ट में घसीटा पर कोर्ट के बाहर ही मामले को सुलझा लिया गया।

8. एड्रियन लामो - 

एड्रियन लामो का बचपन बहुत गरीबी में बीत और किशोरावस्था भी। लामो को 'होमलेस हैकर' भी कहा जाता है। एड्रियन लामो ने माइक्रोसॉफ्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स जैसी बड़ी बड़ी कंपनियों के सिक्योरिटी सिस्टम में सेंध लगाई। गरीब एड्रियन लामो पब्लिक इंटरनेट कनेक्शनों से ही काम चला लेता था, और किसी कॉफीशॉप में बैठकर बड़ी-बड़ी कंपनियों के सुरक्षा बंदोबस्त की धज्जियां उड़ा देता था और उन्हें सचेत करता रहता था। इतना करने के बावजूद भी किसी कंपनी ने उसको सराहने के अलावा कोई मदद नहीं दी। इसीलिए वो अपराधी माना गया। अमेरिकी कोर्ट ने उसपर 65 हजार डॉलर का जुर्माना लगाया और साथ ही 6 माह हाउस अरेस्ट में रखा, साथ ही 2 साल उसे प्रोबेशन पीरियड में भी रखा। एड्रियन लामो ने बाद में पत्रकार का पेशा अपना लिया, साथ ही हैकिंग को लेकर लोगों को टिप्स भी दिए।

9. रॉबर्ट टप्पन मॉरिस -

अमेरिका के नेशनल कंप्यूटर सिक्योरिटी सेंटर के मुख्य विज्ञानी रहे रॉबर्ट मॉरिस का बेटा रॉबर्ट टप्पन मॉरिस है। टप्पन ने सबसे पहले कंप्यूटर वायरस की खोज की और कंप्यूटर फ्रॉड केस में सजा पाने वाला भी पहला व्यक्ति है।पढ़ाई के दौरान मॉरिस ने मॉरिस वायरस की खोज की और उसे कंप्यूटर की दुनिया में उतार दिया। इससे काफी कंपनियों को नुकसान पहुंचा। रॉबर्ट टप्पन मॉरिस को 3 साल जेल की सजा सुनाई गई। अब रॉबर्ट टप्पन मॉरिस एक प्रोफेसर के तौर पर मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के टीचर हैं।

10. ओवेन वॉकर -

ओवेन वॉकर इन्टरनेट हैकिंग की दुनिया में 'AKKIL' नाम से जाना जाता है। वॉकर ने इंटरनेशनल लेवल पर हैकरों का का ग्रुप बनाया था वो अपने 18वें जन्मदिन से पहले। ओवेन वॉकर ने एक्बॉट वायरस बनाकर 13 लाख कंप्यूटरों को हैक करके अपनी पकड़ बनाई और 18वें जन्मदिवस से पहले 2 करोड़ 60 लाख डॉलर का नुकसान किया। एक्बॉट वायरस से कंप्यूटर अपने आप क्रैश हो जा रहे थे। इस वायरस की वजह से पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय का कंप्यूटर सिस्टम तबाह हो गया, जिसकी वजह से एफबीआई को न्यूजीलैंड सरकार के साथ मिलकर ऑपरेशन चलाना पड़ा, तब कहीं जाकर ओवेन वॉकर को गिरफ्तार किया गया। हालांकि अप्रैल 2008 में उसे बिना अपराधी ठहराए कोर्ट ने रिहा कर दिया। कोर्ट का कहना था कि ओवेन वॉकर ने क्राइम को ध्यान में रखकर ऐसा नहीं किया और न ही कोई फायदा उठाया। वो बस मजे के लिए कर रहा था। ऐसे में अगर उसे सजा होती है तो उसका भविष्य भी बर्बाद हो सकता है। मौजूदा समय में ओवेन वॉकर एक ऑस्ट्रेलियन टेलीकम्यूनिकेशन कंपनी की सिक्योरिटी डिवीजन का हेड है। 
internet hacker for android free download internet hacker software internet password hacker internet hacker app internet hacker apk internet hacker groups rutgers internet hacker film internet hacker

0 Response to "दुनिया के टॉप 10 हैकर की कहानी worlds hacker"

Post a Comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel