दीपावली पर धुंए से बचे अस्थमा पेशेंट्स और जाने अस्थमा के लक्षण - Top.HowFN.com

दीपावली पर धुंए से बचे अस्थमा पेशेंट्स और जाने अस्थमा के लक्षण


दीपावली आ रही है, साथ ही मौसम में भी परिवर्तन हो रहा है. मौसम ठंडा होने पर हवा के कणो का घनत्व बढ़ जाता है जिससे कोई भी गंध, धुँआ ता अन्य गैस हवा में ज्यादा समय तक बनी रहती है. इसलिए ठंडे मौसम में दिपावली अस्थमा के मरीजो के लिए खतरे की घन्टी से कम नही हैं.

दीपावली पर इन कारणों से बढ़ता है प्रदूषण

बढ़ जाता है पटाखों का रासायनिक धुँआ
पटाखों में काम आने वाले रसायन लैड, मैग्नीज, कॉपर, जिंक, पोटेशियम बहुत ही घातक हैं, जो पूरे वातावरण को प्रदूषित कर देते है, साथ ही चाइना से बनकर आने वाले पटाखे और अधिक खतरनाक हैं क्योंकि इनके कारण प्रदूषण में जहर फैल जाता है.

दीपावली की सफाई यानी धूल की सप्लाई
दीपावली पर घर की सफाई करना एक परंपरा है. ऐसे में हवा में धूल के कण कई गुना बढ़ जाते है. रसोई या आग वाली जगहों में तो कार्बन कण भी अधिक मात्रा में होते हैं. साथ ही इन दिनों बाजारों में भीड़ और पॉल्यूशन काफी बढ़ जाती है जो अस्थमा के रोगियों के लिए हानिकारक है. इन सबके कारण हमारे शरीर में श्वास में दमा एलर्जी का भयंकर प्रकोप शुरू हो जाता है. 

यह भी पड़े जीवन की 10 बुनियादी बातें जरुर जाने

दमा एक शवसन रोग है. इसके मुख्य लक्षण हैं-
सामान्य से तेज सांस चलना, सांस लेने में कठिनाई, घरघराहट या सीटी बजना, प्रातः काल या देर रात खासी, धड़कन तेज होना, गले में खुजली या खुरचन या दर्द होना.

3 Responses check and comments

  1. I developed asthma during a virus two years ago. I couldn’t walk up even small hills and to the top of our house without gasping for breath; small everyday stresses left me breathless. I used hashmi bronkill capsule and found relief from asthma.

    ReplyDelete
  2. Asthma natural remedies are very effective to cure asthma from the root. It is very effective also.

    ReplyDelete
  3. Natural asthma treatment delivers long term effect and does not cause any side effect.

    ReplyDelete

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel