ये 4 सब्जियां विटामिन खनिज से भरपूर खाने की सलाह - Top.HowFN

ये 4 सब्जियां विटामिन खनिज से भरपूर खाने की सलाह

 पत्ता गोभी 
- पत्ता गोभी में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन्स (ए, बी, सी) के अलावा लौह तत्व भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

- पत्ता गोभी में विटामिन C भरपूर मात्रा में होता है। इसीलिए यह इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाता है।

- इसमें अमीनो एसिड अधिक मात्रा में मौजूद होता है। यह चोट, मोच, दर्द आदि की सूजन को कम करता है।
- पत्तागोभी में विटामिन k भरपूर मात्रा में पाया जाता है। हाल ही में हुए एक शोध से पता चला है कि पत्ता गोभी के सेवन से अल्जाइमर की समस्या दूर हो जाती है।

- पत्ता गोभी के पत्ते चबाने से बाल घने होने लगते हैं।

- पत्ता गोभी का रस लगातार दो तीन माह तक सिर पर लगाने से गंजापन दूर हो जाता है।

पालक 
- पालक में विटामिन ए, बी, सी और र्ई के अलावा प्रोटीन, सोडियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, क्लोरिन, थायामिन, फाइबर, राइबोफ्लैविन और लौह तत्व आदि पाए जाते हैं।
- पालक के एक गिलास जूस में स्वादानुसार सेंधा नमक मिलाकर सेवन करने से दमा और सांस के रोगों में लाभ होता है।
- पालक में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसके नियमित सेवन से झुर्रियां दूर हो जाती हैं। साथ ही, त्वचा में कसाव आता है। पालक और नींबू का रस बराबर मात्रा में मिलाएं। इस रस में दो या तीन बूंद ग्लिसरीन मिलाकर त्वचा पर रात को सोते समय लगाएं। झुर्रियां खत्म हो जाएंगी।

- सनबर्न की समस्या भी पालक के सेवन से दूर हो जाती है। पालक का जूस लाभकारी होता है, क्योंकि इसमें विटामिन बी कॉम्पलेक्स पाया जाता है। इसीलिए यह सूर्य की किरणों से त्वचा की रक्षा करता है।

- पालक में विटामिन के और फोलेट भी पाया जाता है। इसीलिए यह डार्क सर्कल्स मिटाता है। यदि आपका रंग सांवला है तो पालक के जूस का सेवन करें। इसके सेवन से रंग साफ हो जाता है।

- दिल के रोगियों को रोजाना एक कप पालक के जूस में 2 चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिए। ये बड़ा गुणकारी होता है।
- पालक जूस में विटामिन ए और विटामिन सी होता है। यह त्वचा की बीमारियों को दूर कर देता है।

तुरई 

- पीलिया होने पर तुरई का रस यदि रोगी की नाक में दो से तीन बूंद डाला जाए तो नाक से पीले रंग का द्रव बाहर निकलता है। आदिवासी मानते हैं कि इससे पीलिया रोग खत्म हो जाता है।

-आधा किलो तुरई को बारीक काटकर 2 लीटर पानी में उबाल लें। इसके बाद इस पानी में बैंगन को पका लें। बैंगन पक जाने के बाद इसे घी में भूनकर गुड़ के साथ खाने से बवासीर में आराम मिलता है।

- तुरई में इन्सुलिन की तरह पेप्टाइड्स पाए जाते हैं। इसलिए इसे डायबिटीज नियंत्रण के लिए एक अच्छा उपाय माना जाता है।
तुरई की बेल को सुखाकर रख लें। इसे दूध या पानी में घिसकर 5 दिनों तक सुबह-शाम लें। पथरी में आराम मिलता है।

- तुरई के पत्तों और बीजों को पानी में पीसकर त्वचा पर लगाने से दाद-खाज और खुजली जैसे रोगों में आराम मिलता है।

गाजर 
- गाजर में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, फॉस्फोरस, स्टार्च और कैल्शियम के अलावा केरोटीन भी प्रचूर मात्रा में पाया जाता है। बच्चों को गाजर का रस पिलाने से दांत आसानी से निकलते हैं। उन्हें दूध भी ठीक से पच जाता है।
यदि आपको पाचन संबंधी समस्या है तो दिन में दो लाल गाजर खाएं। पाचन से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाएंगी।
- गाजर शरीर में कोलेस्ट्रोल लेवल को कम करती है। डिनर करने के बाद एक गिलास गाजर का जूस पीने से कोलेस्ट्रोल कंट्रोल में रहता है।

- जिन्हें गैस की समस्या हो, उन्हें गाजर का रस या गाजर उबालकर उसका पानी पीना चाहिए।

- आदिवासियों के अनुसार गाजर के रस की 4-5 बूंदें नाक में डालने से हिचकी दूर हो जाती है।

No comments

मोबाइल नो. ना डाले नेट पर सभी को देखेगा सिर्फ अपने विचार दे कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले अगले 48 घंटे में जवाव देने का प्रयास करेगे, विज्ञापन कमैंट्स ना करे 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर Ads दिखाए

Powered by Blogger.