Bipin Rawat ji एक और सेटेलाइट वीडियो आया सामने Halicopter crash site photos 8 December 2021


CDS bipin rawat crash site photos, tarini rawat daughter of bipin rawat bipin rawat crash video जनरल बिपिन रावत की 1979 में पहली पोस्टिंग कहां हुई थी bipin rawat salary per month bipin rawat death reason how did bipin rawat die 

जनरल विपिन रावत राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के अलावा यदि किसी एक अधिकारी से भारत के आंतरिक और बाहरी दुश्मन सबसे अधिक डरते थे वो थे जनरल विपिन रावत

Facts Bipin Rawat jivan Parichay 


 मोदी सरकार ने 2016 में जब उन्हें Army Chief बनाने की घोषणा की थी, Army Chief बनने के बाद Gen रावत ने सिद्ध कर दिया कि देश के गद्दार क्यों उनके खिलाफ थे। 


उन्होंने कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़कर रख दी। ऐसे Targeted Operations चलाये कि जिहादी संगठनों को अपने लिये कमांडर ढूंढने मुश्किल हो गए

जो भी कमांडर बनता, उसका एनकाउंटर करके उसे 72 हूरों के पास भेज दिया जाता।। धारा 370 इतनी आसानी और सफलतापूर्वक हटा दी गई, इसके लिए धरातल General रावत ने ही तैयार किया था। का

कारगिलुद्ध के बाद से ही तीनों सेनाओं के बीच समन्वय के लिए 

Chief Of Defence Staff (CDS) पद बनाने की माँग उठ रही थी लेकिन अटलजी की सरकार चुनाव हार गई, और 2004 में CONg की सरकार बनने के बाद उस प्रस्ताव को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।  
PM मोदी ने जब लाल किले की प्राचीर से CDS पद के गठन की घोषणा की तो सबकी नजर इस बात पर थी कि पहला CDS कौन बनेगा। जब सरकार ने Gen रावत को CDS बनाया तब एक बार फिर गद्दारों ने इस फैसले का विरोध किया। 

CDSS बनते ही Gen रावत दिनरात काम करने में जुट गए। *PM मोदी* ने उन्हें Integrated Theatre Command बनाने की ज़िम्मेदारी सौंपी। US, Russia आदि शक्तिशाली देशों में इंटीग्रेटेड थिएटर कमांड पहले से ही है। 

इस कमांड का काम होता है युद्ध के समय तीनों सेनाओं के सभी संसाधनों का एक साथ पूरी क्षमता से प्रयोग करना। इस तरह की कमांड न होने के कारण कारगिल युद्ध के समय भारत को भारी नुकसान झेलना पड़ा था। 

US जैसे विकसित देश को ये थिएटर कमांड बनाने में 20 से अधिक वर्ष लगे थे लेकिन Gen रावत चाहते थे कि अगले मात्र 2-3 वर्षों में ही वो भारतीय सेनाओं की इंटीग्रेटेड थिएटर कमांड बना दें, और इसी के लिए वो जी-तोड़ मेहनत कर रहे थे। 

Genn रावत के CDS बनते ही तीनों सेनाओं का कायापलट होना शुरू हो गया। CDS स्वयं रक्षा मंत्रालय का हिस्सा होते हैं इसलिए नौकरशाहों की बिना लेटलतीफी के सेनाओं के लिए धड़ाधड़ हथियार खरीदने शुरू हो गए। 

वर्षों से अटकी पड़ी हुई Defence deals भी पूरी होने लगीं। Gen रावत का नाम सदैव स्वर्णाक्षरों में लिखा जाएगा।। ईश्वर ऐसे महान वीर देशभक्त को फिर से भारतमाता की सेवा करने के लिए अवश्य भेजेंगे। 🇮🇳🇮🇳 🙏ॐ शांति🙏

0 Response to " Bipin Rawat ji एक और सेटेलाइट वीडियो आया सामने Halicopter crash site photos 8 December 2021"

Post a Comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel