Japans pm shinjo aabe work जापान के प्रधानमंत्री इन दिनों भारत में छाए हैं। उनके दौरों को भारत जापान के बीच संबंधों की बढ़ती मजबूती के रूप में देखा जा रहा है। टोक्यो के एक प्रभावशाली राजनीतिक परिवार में जन्मे आवे लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष है। उन्होंने लोक प्रशासन की पढ़ाई की और राजनीति विज्ञान से स्नातक किया। कई किताबें भी लिखी है। अपनी किताब उत्सुकुशी कुनी इ मे उन्होंने अपने निजी अनुभव को लिखा है।

उन्होंने यूएस जाकर लोक नीति की भी पढ़ाई की। पढ़ाई के बाद उन्होंने 3 साल जापान की स्टील निर्माता कंपनी कोबे स्टील में काम किया। 1982 के बाद वे राजनीति में सक्रिय हुए।

बड़े राजनीतिक परिवार से जुड़े
शिंजो आबे के पिता सिंतारो आवे जापान में विदेश मंत्री और हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के सदस्य रहे हैं। उनके दादा कान अाबे ने भी हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में सेवाएं दी। उनके नाना नोबूसिके भी जापान के प्रधानमंत्री रहे थे। अाबे सिर्फ आत्मरक्षा सेना की बजाए जापान में सशकत सैनिक बल रखने के पक्षधर हैं।

सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री
द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद प्रधानमंत्री बनने वालों में शिंजो आबे सबसे कम उम्र के हैं। वह जापान में सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहने वाले तीसरे व्यक्ति है। वह ऐसे दूसरे व्यक्ति है जो फिर से प्रधानमंत्री चुने गए। 2006 में जब वह पहली बार PM बने तो 1 साल बाद ही स्वास्थ्य खराब होने से इस्तीफा दे दिया था।

पत्नी अकई थी रेडियो जॉकी
सिंजो की पत्नी बनने से पहले से ही अकई आवे कि समाज में अच्छी साख थी। वह टोक्यो में रेडियो डिस्क जॉकी रह चुकी है। वह खासतौर से डोमेस्टिक अपोजिशन पार्टी के रूप में जानी जाती हैं। दरअसल वें प्रधानमंत्री के रुप में ही अपने पति की नीतियों की खुलकर आलोचना करने से नही हिचकिचाती। उनकी शादी 1987 में हुई थी। अभी तक उंहें कोई संतान नहीं है। 

आपको बता दें कि जापानी पीएम ट्विटर पर सिर्फ 17 लोगों को फॉलो करते हैं जिनमें भारत के प्रधानमंत्री भी शामिल हैं। मोदी की ऑफिशियल बायोग्राफी मन की बात की प्रस्तावना भी सिंजो ने लिखी है।

कोई भी सवाल पूछे ?.या Reply दे

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर