पर्यावरण को लेकर क्या आपने अमल किया हे इन बातों पे..Worls Enviorment Day


हमेशा की तरह फिर से 5 जून विश्व पर्यावरण दिवस चला गया. पेड़ लगाओ, पर्यावरण बचाओ जैसे ना जाने कितने ही नारों का हम रोजाना प्रयोग करते हे. प्लास्टिक की थैलियों का प्रयोग नहीं करेंगे, कचरा कचरा-पात्र में ही डालेंगे, ऐसी ना जाने कितनी ही शपथ लेते होंगे. लेकिन कभी हमने इन चीजों पे अमल किया हे. आईये जानते अपने पर्यावरण के बारे में. 
प्लास्टिक कैसे जान का खतरा बन रहा हे
सबसे सस्ता माना जाने वाला प्लास्टिक दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा बन के उभरा चूका हे. दुनिया में हर साल 88 लाख टन कचरा समुद्र में पहुँच रहा हे. इसी वजह से एक लाख से ज्यादा समुदी जीव हर साल दम तोड़ रहे हे. प्लास्टिक कितना बड़ा खतरा हे यह इसी बात से समझा जा सकता हे की दुनिया में आज तक जितना भी प्लास्टिक बना हे, वो किसी ना किसी रूप में मौजूद हे. प्लास्टिक खत्म होने में हजार साल का समय लेता हे. जिस रफ्तार से आज प्लास्टिक सफाई का काम चल रहा हे उस हिसाब से तो करीब 80 हजार साल लगेंगे. प्लास्टिक हमें बीमार भी बना रहा हे. प्लास्टिक दुनिया के लिए परमाणु बम से भी बड़ा खतरा हे.

वायु प्रदूषण
55 लाख मौतें दुनिया में हर साल वायु प्रदूषण से होती हे. 90 कंपनियां दुनिया का 63% प्रदूषण फैला रही हे.

पेड़ हमें क्या देते हे
हर साल पेड़ हमें 6 अरब टन ओक्सिजन देते हे. 10 गैसों से मिलकर हमारा वायुमंडल बना हे. जिसमे ओक्सिजन की मात्रा 21% हे और नाइट्रोजन की मात्रा 78% हे और जीवन के लिए दोनों ही गैस बहुत जरुरी हे. पेड़ हमें ख़ुशी भी देते हे. यही वजह हे की फीनलैंड साफ़ हवा के मामले में तीसरे नंबर और खुशहाली में 5 वे नंबर पर हे. 

यह भी पढ़े हेल्थ इंश्योरेंस पालिसी लेने से पहले रखें इन 4 बातों का ध्यान

क्या हो गई हे जानवरों की हालत
दुनिया में अब सिर्फ 1 लाख हाथी ही बचें हे. दुनिया में सिर्फ 10 हजार मादा कछुए बचे हे. कुल मिलकर 52% जानवर घटे हे. जंगल के जंगल खत्म हो रहे हे. दुनिया में डाल्फिन सिर्फ 7400 बची हे. इसके अलावा ना जाने कितने जीव विलुप्त हो चुके हे.

इस पोस्ट को पढ़कर यह तो आपने जान ही लिया होगा की आज विश्व में पर्यावरण की हालत हे. अगर ऐसा ही चलता रहा तो एक दिन भयंकर प्रलय आना निश्चित हे. इसलिए अपने पर्यावरण की रक्षा करें. घर के आस-पास पेड़ लगायें, उनकी देखभाल करें, कचरा कचरा-पात्र में डालें. प्लास्टिक का इस्तेमाल कभी भी ना करें. यह प्रकृति अपनी हे और इसकी सुरक्षा करना भी हमारा कर्तव्य हे.

Every day i supply oxygen for up 4 people dont you think i am worth saving.

0 Response to "पर्यावरण को लेकर क्या आपने अमल किया हे इन बातों पे..Worls Enviorment Day"

Post a Comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel