जानिए घर को प्रदुषण रहित कैसे बनाएं Tips to Make Your Home Pollution Free

यहाँ क्लिक कर अपने दोस्तों को बधाई मोबाइल पर भेजे अभी
ज्यादातर लोगों का मानना है कि प्रदुषण घर के बाहर ही होता है। किंतु उनका यह सोचना बिल्कुल गलत है। आंकड़े बताते हैं कि हर वर्ष 43 लाख लोग घर के अंदर होने वाले प्रदुषण का शिकार हो रहे हैं। घर के अंदर की हवा में भी धूल कण और कीटाणु मौजूद होते हैं, जो हमें दिखाई नहीं देते। इनकी वजह से कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स आ जाती हैं। आइये आज हम आपको घर में प्रदुषण से बचने के कुछ उपाय बता रहे हैं-
Read here how to make your home pollution free. There are many ways to get rid from pollution in home like solar system, plants, use of green color products for decoration of house, herbal garden in house and many more.
रोशनी और हवादार घर
घरों को इस तरीके से बनाना चाहिए, कि अधिक से अधिक रोशनी और हवा घर में आ सके। घर हवादार होना चाहिए। घर के अंदर धुम्रपान न करें। और ऐसी रंगों का चयन करें, जिसमें सीसा और वीओसी न हो। इक्योंकि इनमें ऐसे केमिकल्स होते हैं, जो सांस नली को प्रभावित करते हैं। घर की दीवार में दरार भी प्रदूषण के लिहाज से नुकसानदेह हो सकती है। छत या दीवार में दरार से कमरों में सीलन आती है। हो सके तो घर को समय समय पर रिपेयर करवाएं।


हरे रंग का प्रयोग
घर के वातावरण को पॉजिटिव बनाने के लिए में हरे रंग को प्राथमिकता दी जाती है। घर में पर्याप्त ऑक्सीजन और फ्रेश हवा के लिए घर के अंदर हरे भरे पौधे लगाएं। अगर आपके घर में बालकनी है, तो उसे ढकने की बजाय खुला रखें और वहां बालकनी में अपने पसंदीदा फूलों वाले पौधे लगाएं।

सोलर सिस्टम लगवाएं
इको फ्रेंडली घरों में उर्जा की खपत को कम करने वाले उपकरण लगाए जाते हैं। साथ ही ऐसे उपकरण इस्तेमाल किए जाते हैं, जिन्हें मेन्टेन करने का खर्च न के समान हो। इसमें आप सौर ऊर्जा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे न ही बिजली का बिल आता है और न ही वातावरण को कोई नुकसान पहुंचता है।

बगीचा और ग्रीन स्पेस
घर में हर्बल गार्डन और ग्रीन स्पेस जरुर होना चाहिए। इस्ससे खर्चा भी कम आता है। और इसके अलावा, घर में आप समय-समय पर अपनी इच्छानुसार बदलाव भी करवा सकते हैं।

रसोई को रखें साफ़
घर में रसोई ही एक ऐसी जगह है, जहां से सबसे अधिक प्रदुषण होता है। सब्जी छौंकने से लेकर पकाने तक का धुआं रसोई से ही निकलता है। हो सकता है कि केवल खांसी या छींक आए। किंतु अस्थमा के मरीज के लिए यह धुआं बहुत ही दिक्कत करता है। रसोई के प्रदूषण से बचने के लिए चिमनी या एग्जॉस्ट फैन का इस्तेमाल जरुर करें।

No comments

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर

Powered by Blogger.