Latest

पुत्री जन्म गम नहीं सोभाग्य है कविता ... baby girl poems hindi


पुत्री जन्म गम नहीं सोभाग्य है:- कविता 

एक पिता का मान है सम्मान है
और गौरव सा अरमान है।
घर नहीं वह मन्दिर है
जंहा पुत्री का जन्म हुआ
प्यार से पालो ख़ुशी दिलाओ
जन्मे पुत्री ख़ुशी मनाओ
जिस पर खुद को नाज हो
जैसे सिर पर शाही ताज हो
भाग्यशाली वह मात पिता
जिसने पुत्री जन्म दिया
संस्कार से पालन करके
मन से कन्यादान किया
यज्ञ निति से करी बिदाई
गर्वित अवसर पा लिया ।
मानो या ना मानो,
पुत्री तो वह हीरा है
जो जोडे दो परिवार दिलो को
मेल मिलाप सोभाग्य दिलाती
वंश नाम को रोशन करती
पुत्री तो रिश्तों में मददगार है
गम नहीं सोभाग्य है।

यह कविता हमें - ललित प्रसाद शर्मा वार्ड नंबर 01 खंडेला सीकर राज. 9414213685 ने भेजी है...... अच्छी लगे तो आगे भी भेजे 
जानकारी मदगार हो तो शेयर करे हमें अधिक जाने ClickMe
Please SHARE Whatsapp

0 Response to "पुत्री जन्म गम नहीं सोभाग्य है कविता ... baby girl poems hindi"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Widgets