Latest

डिप्रेशन से बचने के लिए करें यह प्राणायाम Tenshan Se Bachne Ke Liye Kya Kare


आजकल डिप्रेशन जैसी बीमारी में अत्यंत बढ़ोतरी हो रही हैं. छोटे-छोटे बच्चो में भी यह रोग उत्पन्न हो रहा है. अतः इसे रोकने की कोई भी कारगर दवा नही है. इस रोग की चिकित्सा केवल प्राणायाम द्वारा ही सभव है. प्राणायाम मन और तन को पूर्ण रूप से शुद्धि क्र देता है. बशर्ते थोड़ा-सा ध्यान देकर सीखा जाये. डिप्रेशन में अनुलोम-विलोम व् भ्रामरी प्राणायाम करने से अत्यंत लाभ होगा. आगे पड़े वेबसाइट को लोकप्रिय कैसे बनायें
अनुलोम-विलोम प्राणायाम
दाये हाथ के अंगूठे से दाहिनी नासिक को बंद करके बाई नासिक से शवास धीरे-धीरे अंदर भरना चाहिए. शवास पूरा अंदर भरने पर अनामिका व् मध्यमा से बाये स्वर को बंद करके दाहिने नाक से पूरा शवास बाहर छोड़िये. इस प्रकार धीरे-धीरे शवास-प्रशवास की गति मध्यम और फिर थोड़ी तीव्र करनी चाहिए. इस प्राणायाम को एक मिनट में 12 बार करते हुए एक बार में 5 मिनट करे. 10-15 मिनट करे.

भ्रामरी प्राणायाम
शवास पूरा अंदर भरकर मध्यमा अंगुलियों से नासिका के मूल में आँख के पास से दोनों और से थोड़ा दबाये. मन को आज्ञाचक्र में केंद्रित रखे. अंगूठो के द्वारा दोनों कानो को पूरा बन्द कर ले. अब भ्रमर की भाँति गुंजन करने हुए नाद रूप में ओउम का उच्चारण करते हुए शवास को बाहर छोड़े. पुनः इसी प्रकार करे. इस प्राणायाम को 3 बार से लेकर 11-21 बार तक किया जा सकता है.

इस प्रकार इन प्राणायाम व् कपालभाति प्राणायाम को हम नित्य अपने जीवन में स्थान देंगे तो हम चिंता मुक्त हो सकेंगे और आप छोटे-छोटे व् बड़े से बड़े रोगों को भी मात दे सकते हैं और अपना जीवन सुखी बना सकते हैं. निरोगी काया जीवन का सबसे बड़ा धन है जिसको प्राप्त करने के लिए दिन भर मेहनत की आवश्यकता नही है अपितु सुबह 30 मिनट से 60 मिनट की मेहनत व् लगन की आवश्यकता है.
जानकारी मदगार हो तो शेयर करे हमें अधिक जाने ClickMe
Please SHARE Whatsapp

0 Response to "डिप्रेशन से बचने के लिए करें यह प्राणायाम Tenshan Se Bachne Ke Liye Kya Kare"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Widgets