Latest

उन्हें ना भुलाएं जिनके लिए आप सब कुछ हे..A Special Story For Father And Son In Hindi


एक बार एक बच्चे ने अपने पिता के पास जाकर सवाल किया की ‘पापा आप एक घंटे में कितना कमाते हे’. काम में व्यस्त पिता ने कहा ‘इससे तुम्हारा कोई मतलब नहीं’. बच्चा फिर भी खड़ा रहा और बोला की मेरा यह जानना बहुत जरुरी हे. तब पिता ने बताया की वो एक घंटे में लगभग 500 रूपये कमाते हे. यह सुनकर बच्चे का चेहरा उतर गया. फिर उसने थोड़ी देर से कहा की क्या आप मुझे 300 रूपये दे सकते हे. पिता को गुस्सा आ गया की मुझसे पैसे मांगने के लिए मेरी salary पूछ रहा हे. उन्होंने बच्चे को डांटकर कमरे से भगा दिया. इस बात को सोचकर पिता को गुस्सा आता रहा. जब थोड़ी देर से उनका गुस्सा शांत हुआ तो उन्होंने सोचा की शायद बेटे को किसी काम के लिए पैसों की जरूरत होगी. वे उस बच्चे के रूम में गए और उसे 300 रूपये दे दिए. बच्चे ने ख़ुशी से वे पैसे लिए और अपने तकिये के निचे से 200 और निकाले. यह देखकर पिता फिर से क्रोधित होने वाले ही थे लेकिन बच्चा बोल पड़ा ‘मेरे पास अब 500 रूपये हो गए. आप कल एक घंटा पहले आ जाना. में आपके साथ भोजन करना चाहता हु. यह सुनकर पिता ने उसे गले से लगा लिया और उनकी आँखों में आंसू आ गए.
यह कहानी हमें यह सीख देती हे की पैसा कमाने की होड़ में उन लोगो से दूर ना हो जाये, जिनके लिए आप यह सारी दोड़भाग कर रहे हे. सच हे की जब बच्चे सो रहे होते हे और हम जॉब पे निकलते हे और जब वापिस आते हे तब भी बच्चे सो रहे होते हे. हमारी जिंदगी के अह्म पल उनके बिना ही भागदोड़ में निकल जाते हे. कभी कभी तो यह भी समझ नहीं आता की कमाने के लिए भागते हे या भागने के लिए कमाते हे. इसलिए हमेशा उन लोगो को टाइम दे जो आपके लिए और जिनके लिए आप सब कुछ हे.
जानकारी पसंद आई बेहतर करने सुझाव कमैंट्स करे या हमारे बारे में जाने Click me
Please SHARE Whatsapp

0 Response to "उन्हें ना भुलाएं जिनके लिए आप सब कुछ हे..A Special Story For Father And Son In Hindi "

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Widgets