इंटरनेट हैकिंग कुछ भी सुरक्षित नहीं learn to hack anything

hacker sites google how to hack web page FACEBOOK how can i hack website whatsapp learn how to hack passwords how to hack websites for beginners how to hack websites with cmd how to hack websites easily
जितनी तेज़ी से दुनिया इंटरनेट से जुड़ रही है, उससे कहीं तेज़ी से हैकर्स के लिए लोगों की निजी लाईफ़ में झांकने के मौके खुल रहे हैं।

आज-कल हर चीज़ इंटरनेट या तकनीक से जुड़ी होती है, वो चाहे आपकी कार हो, आपका बैंक अकाउंट या फ़िर आपके महत्वपूर्ण कागज़ात।

हैकर्स के लिए आज इन सब चीज़ों को चुराना काफ़ी आसान हो गया है। अपने घर में बैठ कर और सिर्फ़ Computer और Internet के ज़रिए ये हैकर्स आपको कैसी भी चपत लगा सकते हैं।आपका पर्सनल डाटा चुरा सकते हैं या आपके बैंक अकाउंट खाली कर सकते हैं। इसीलिए जितना हो सके ऑनलाइन सुरक्षा का ध्यान रखिये।
साल 2015 में कई बार ऐसी घटनाएं हुईं जिन्होंने इंटरनेट की दुनिया को हिला कर रख दिया। तो आईए नज़र डालते हैं, इंटरनेट के ज़रिए हुई सेंधमारी के किस्से पर।

1. Android फ़ोन हैकिंग
साल के जुलाई महीने में Android ने अपने फ़ोन्स के लिए एक नया एप्लिकेशन Stagefright निकाला, जिसके लॉन्च होते ही हैकर्स के लिए तो जैसे किसी भी Android फ़ोन में घुसना बच्चों का खेल हो गया था। बिना फ़ोन के मालिक को पता चले, वो फ़ोन्स से कुछ भी डाटा निकाल सकते थे। इसकी वजह से लाखों फ़ोन्स हैक हुए। कंपनी को जब इस एप्लिकेशन की कमज़ोरी का पता चला तब उन्होंने तुरंत इसका तोड़ बनाया। वरना इस ऐप के कारण कई लोग बर्बाद भी हो सकते थे।

2. कार हैकिंग
कार कंपनी Fiat को 1.4 मिलियन Chrysler कारें बाजार से वापस लेनी पड़ी थीं। इसकी वजह थी कार की अत्याधुनिक तकनीक। कार में नैविगेटर, फ़ोन कनेक्शन और वाई-फाई स्पॉट था, जो इंटरनेट से जुड़ा था। हैकर्स इस कार को आसानी से हैक कर लेते थे और अपनी जगह से हिले बिना कार का पूरा कंट्रोल हासिल कर लेते थे। इतना ही नहीं वो कार के ब्रेक्स और स्पीड पर भी कंट्रोल कर सकते थे। इस अत्याधुनिक और खतरनाक फ़ीचर की वजह से हैकर्स ने कई कारों को चोरी किया।

3. वेबसाईट हैक
Ashley Madison नामक एक डेटिंग वेबसाईट को हैकर्स ने हैक कर के कई लोगों के घर को बर्बाद किया है।उनकी निजी जानकारी को चुराकर सबके सामने स्पष्ट कर दिया। इतना ही नहीं इस साईट से हैकर्स ने लोगों के क्रेडिट कार्ड को भी हैक किया और लोगों को लाखों रुपये की चपत लगाई थी.

4. GM मोटर्स की गाड़ियों को किया गया हैक
29 साल के पेशेवर हैकर Samy Kamkar ने पूरी GM मोटर कंपनी की कारों के सिस्टम को हैक कर लिया था और वो भी खुद के इजाद किए हुए एक छोटे से गैजेट से। GM मोटर की हर कार में Onestar सिस्टम लगा होता है, जिससे कार को अनलॉक और स्टार्ट किया जाता है। Samy Kamkar अपने गैजेट की मदद से किसी भी कार को चोरी कर सकते थे।

5. कार्स, इंटरनेट और हैकर्स आज-कल कई लोग अपने स्मार्टफ़ोन्स से अपनी कार्स को कनेक्ट करते हैं। हैकर्स के लिए ऐसी कार्स को चुराना ज़्यादा आसान होता है। इस साल कई ऐसे मामले सामने आए थे, जब लोगों की कार्स को हैकर्स ने उनके फ़ोन्स को हैक कर के चुरा लिया था।

6. Mac OS भी हुआ हैक
हैकर्स ने इस साल Mac OS का भी तोड़ निकाल लिया था. DYLD सॉफ्टवेयर की मदद से कई हैकर्स ने लोगों के Apple के लैपटॉप पर हाथ साफ़ कर उनके डेटा को निकाला था। Apple कंपनी ने फ़ौरन इस पर कदम उठाते हुए इसका तोड़ निकाला।

7. FireFox भी हुआ हैक
Computer के लिए सुरक्षा देने वाली कंपनी FireFox को भी हैकर्स ने नहीं छोड़ा। उसकी साईट पर दिखने वाले विज्ञापन में से एक हैकर्स की मदद के लिए डाली गई थी। जैसे ही लोग उस साईट को खोलते हैकर्स उस Computer को हैक कर लेते और सबसे अचरज की बात ये थी कि यूजर्स को इसकी भनक तक नहीं लगती थी।

8. Dell लैपटॉप्स हैक
साल के अगस्त महीने में Dell लैपटॉप्स के हैक होने के कई मामले सामने आए थे। इसकी वजह थी Dell के लैपटॉप्स में सुरक्षा की कमी। Dell के कई कस्टमर्स ने जब इसकी शिकायत की तब कंपनी ने इसे सुधारा, लेकिन इससे पहले कई लोगों को ये हैकर्स चपत लगा चुके थे।

9. खिलौने बनाने वाली कंपनी के खिलोने भी किए हैक
चाईना की खिलौने बनाने वाली VTech नामक कंपनी के उन खिलौनों को हैकर्स ने हैक कर लिया था, जिसमे इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा रहा था। उन खिलौनों से हैकर्स ने बच्चों के माता-पिता के क्रेडिट कार्ड्स से काफ़ी पैसे उड़ा दिए थे।

10. US Office of Personnel Management 
भी हुआ हैक हैकर्स द्वारा की गई ये अब तक की सबसे बड़ी वारदात थी। हैकर्स ने US Office of Personnel Management को हैक किया और उनके अकाउंट की जानकारी हासिल कर करीब 20 मिलियन लोगों की पर्सनल जानकारी निकाल ली। इसमें लोगों के उंगलियों के निशान भी थे।

11. हॉस्पिटल तक हुआ हैक
दुनिया के इतिहास में ये पहली बार था जब किसी हॉस्पिटल का डेटा हैकर्स द्वारा चुराया गया हो।
हैकर्स ने मरीज़ों से जुड़ी सारी जानकारी इससे हासिल कर ली थी।इतना ही नहीं डॉक्टर्स और हॉस्पिटल कर्मचारियों तक की जानकारी उन्होंने निकाल ली। हैकर्स ने हॉस्पिटल का सिस्टम भी हैक कर लिया था, जिसके द्वारा वो किसी भी तरह की वारदात को अंजाम दे सकते थे। लेकिन समय रहते इसकी जानकारी हॉस्पिटल प्रशासन को मिली और उन्होंने अपने सिस्टम को सही करवाया।

12. पेट्रोल पंप पर भी हैकर्स ने किया हाथ साफ़ 
Trend Micro नामक एक सुरक्षा एजेंसी ने दावा किया था कि हैकर्स के निशाने पर अब पेट्रोल पंप्स भी हैं और उन्होंने इसकी जांच शुरु की। जांच में पाया गया कि अमेरिका के कई पेट्रोल पंप हैक हुए थे। वहां उपयोग में आने वाले क्रेडिट कार्ड्स को भी हैकर्स ने हैक किया हुआ था।

13. T-Mobile कंपनी से हुए यूज़र्स का डेटा चोरी
अक्टूबर में अमेरिकी मोबाईल कंपनी ने ये खुलासा किया था कि उनके पास जितने भी यूजर्स का डेटा है, उसे निकाल लिया गया है और ये काम किसी हैकर का है। करीब 10 हज़ार लोगों का डाटा इसके ज़रिए निकाल लिया गया था।

इंटरनेट ने लोगों की ज़िंदगी में जितना आराम दिया है, उतनी परेशानियां भी बढ़ाई हैं. हैकर्स की नज़र हर वक़्त एक कमज़ोर कड़ी पर होती है. इसलिए आप भी ज़रा ध्यान रखिएगा। कहीं आपके ऊपर भी कोई नज़र तो नहीं रखे हुए है।

0 Response to "इंटरनेट हैकिंग कुछ भी सुरक्षित नहीं learn to hack anything"

Post a Comment

Thanks for your valuable feedback.... We will review wait 1 to 2 week 🙏✅

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

A lot of people come to Twitter #elections.

Twitter to learn #robot about and discuss elections. These convos are important to us—here’s how we not only protect but also enable authentic election conversations: Aaj me attack ka shikar huya #googlehelp