हिंदी में कंप्यूटर कोर्स सीखे Class 2 Type of Computers Online Courses in hindi Learn Home basic


जानकारी हार्डवेयर के प्रकार ज्ञान पर निबंध ट्रिक लाभ gyan photoshop computerseekho tally youtube urdu tricks filehippo aadhar card seekho practice Ki Jankari - Sanaganak Kaise Chalaye Kaise Kare PC me android ki apps kaise chalaye

<<पिछ्ले अंक में हमने कम्प्यूटर, डाटा व प्रक्रिया के बारे में जाना अब आगे पढ़ें.

कम्प्यूटरों के प्रकार (Type of Computers)

1. अनुप्रयोग के आधार पर कम्प्यूटरों के प्रकार

यद्यपि कम्प्यूटर के अनेक अनुप्रयोग हैं लेकिन प्रमुख अनुप्रयोगों के आधार पर कम्प्यूटरों के तीन प्रकार होते हैं.

  • A. एनालॉग कम्प्यूटर
  • B. डिजिटल कम्प्यूटर
  • C. हाईब्रिड कम्प्यूटर


2. आकार के आधार पर कम्प्यूटरों के प्रकार
आकार के आधार पर हम कम्प्यूटरों को निम्न श्रेणियाँ प्रदान कर सकते हैं –

  • A. माइक्रो कम्प्यूटर
  • B. वर्क स्टेशन
  • C. मिनी कम्प्यूटर
  • D. मेनफ्रेम कम्प्यूटर
  • E. सुपर कम्प्यूटर


पर्सनल कम्प्यूटर ऐसे माइक्रो कम्प्यूटर हैं जो विशेष रूप से व्यक्तिगत अथवा छोटे समूह के द्वारा प्रयोग में लाए जाते हैं. इन कम्प्यूटरों को बनाने में माइक्रोप्रोसेसर मुख्य रूप से सहायक होते है. पर्सनल कम्प्यूटर निर्माण विशेष क्षेत्र तथा कार्य को ध्यान में रखकर किया जाता है उदाहरणार्थ- घरेलू कम्प्यूटर तथा कार्यालय में प्रयोग किये जाने वाले कम्प्यूटर. इसके बारे में विस्तार पूर्वक अलग से चर्चा करेंगे.

पर्सनल कम्प्यूटर के मुख्य कार्यो में गेम-खेलना, इन्टरनेट का प्रयोग, शब्द-प्रक्रिया इत्यादि शामिल हैं. पर्सनल कम्प्यूटर के कुछ व्यवसायिक कार्य निम्नलिखित हैं.

  • 1. डिजाइनिंग करना
  • 2. सेल्स,इन्वेन्ट्री तथा प्रोडक्शन कन्ट्रोल
  • 3. स्प्रेडशीट कार्य
  • 4. अकाउन्टिंग
  • 5. सॉफ्टवेयर निर्माण
  • 6. वेबसाइट डिजाइनिंग तथा निर्माण
  • 7. सांख्यिकी गणना इत्यादि

सूचना क्या है? (What is information?)

जिस डाटा पर प्रक्रिया हो चुकी हो,वह सूचना कहलाती है.अर्थपूर्ण तथ्य,अंक या सांख्यिकी सूचना होती है.दूसरो शब्दों में डाटा पर प्रक्रिया होने के बाद जो अर्थपूर्ण डाटा प्राप्त होता है, उसे ही सूचना कहते हैं.
निर्णय लेने के लिये हमें सूचना की आवश्यकता होती है. किसी भी सूचना में अग्रलिखित गुण होने चाहियेः
अर्थपूर्णता : सूचना में कुछ ना कुछ अर्थ होना चाहिये.

पूर्व जानकारी से सहमति : सूचना को किसी पूर्व जानकारी का अनुमोदन (Validation) करना चाहिये.
पूर्व जानकारी में सुधार : सूचना को किसी पूर्व जानकारी में कुछ जोड़ना चाहिये या उसे सुधारना चाहिये.

संक्षिप्तता : सूचना संक्षिप्त होनी चाहिये.

शुद्धता या यथार्थता : सूचना सही होनी चाहिये ताकि उस की आधार पर निर्णय लिये जा सकें.
आगे पढ़ने के लिया फेसबुक लाइक कॉमेंट एड में लेख कैसे लगा बताने के बाद नई लिंक पे जाएँ








Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel