काम कर रहे हैं और अचानक एक मैसेज आता है. मैसेज में लिखा होता है गूगल ऑक्ट्रो ट्रांजैक्शन सफल रहा और 250 रुपये कट गए. ऐसे एक नहीं बल्कि लगातार हर सेकंड् मैसेजों की झड़ी लग गई. पैसे कटते गए. 15 मिनट के अंतराल में 10 से ज्यादा मैसेज आए और आखिरकार अकाउंट से 12 हजार रुपये कट गए.

 जब कस्टमर केयर को फोन किया तो उन्होंने कहा, ‘हम सिर्फ कार्ड ब्लॉक कर सकते हैं और ये नहीं बता सकते हैं कि यह ट्रांजैक्शन कहां से हो रहा है. इसके लिए आपको बैंक जाना होगा’ कस्टमरस केयर ने कुछ भी बताने से इनकार किया है और कहा वो इसके लिए ऑथराइज्ड नहीं है. यह पहला और आखिरी मौका नहीं है जब एसबीआई के कार्ड पर फ्रॉड का मामला सामने आया है.

पहले ऐसे कई मामले देखने को मिले हैं जहां कस्टमर को लाखों का चूना लगा दिया गया है. कुछ महीने पहले ही एक सरकारी अधिकारी के साथ भी ऐसा ही एक फ्रॉड हुआ. उन्हें भी गूगल ऑस्ट्रो ट्रांजैक्शन के मैसेज लगातार और मिनट भर में अकाउंट से 78 हजार रुपये कट गए. उनके साथ भी ठीक ऐसा ही हुआ जैसा आज हुआ. एक के बाद एक लगातार मैसेज आते रहे और पैसे कटते चले गए. जून मे उस अधिकारी ने TOI को बताया कि न तो पुलिस और न ही बैंक ने इस फ्रॉड के बारे में कोई पुख्ता जानकारी दी. ये पैसे क्यों कटे, कहां गए और क्या चूक हो गई इसके बारे में न तो पुलिस ने बताया है और न ही बैंक अधिकारियों ने.

 बड़ा सवाल ये उठता है कि ये फ्रॉड कौन और कैसे कर रहा है? क्या दूसरे देश से ऐसे फ्रॉड किए जा रहे हैं? स्टेट ऑफ इंडिया इस फ्रॉड के बारे में कोई स्टेटमेंट जारी क्यों नहीं करती? गूगल ऑस्ट्रो फ्रॉड सिर्फ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कार्ड के साथ ही क्यों होता है.

  क्या है गूगल ऑक्ट्रो

हमने जब इस बात की पड़ताल की कि आखिर गूगल ऑक्ट्रो क्या है. दरअसल ऑक्ट्रो इंक एक कंपनी है जो गेम बनाती है . गूगल प्ले स्टोर पर इसके गेम काफी पॉपुलर हैं. कंपनी का दावा है कि इसके गेम हर दिन 10 लाख से ज्यादा खेले जाते हैं.

गूगल प्ले स्टोर पर ऑक्ट्रो इंक के ये गेम्स मौजूद हैं

तीन पत्ती लाइव, तंबोला हाउस, कैरम लाइव, युद्ध भुमि, डंकी क्विड, कार्ड रोयाल, स्लीप, स्नेक एंड लैडर, पोकर लाइव और लूडो लाइव. गौरतलब है कि ऑक्ट्रो नोएडा की ही कंपनी है और गेम बनाती है. हमने इस कंपनी से बातचीत करने की कोशिश की है.

अब जानते हैं गूगल के मुताबिक ऐसे ट्रांजैक्शन का मतलब क्या है

गूगल सपोर्ट पेज पर अनऑथराइज्ड चार्ज के बारे में ये जानकारी मिली है. अगर आपके साथ भी ऐसा हो तो इससे आप मदद ले सकते हैं.

गूगल के मुताबिक अगर पैसे कटने के मैसेज में Google*App Developer का नाम लिखा है तो यह गूगल प्ले पर ही हुआ है ट्रांजैक्शन. इस मामले में ठीक ऐसे ही मैसेज आए हैं. कस्टमर के पास Google*Octro का मैसेज आया. यानी ऑक्ट्रो डेवेलपर है जिसके बारे में हमने पहले बताया है और यह गूगल प्ले पर ट्रांजैक्शन हुआ है.

यानी ये साफ है कि यह ट्रांजैक्शन गूगल प्ले स्टोर के जरिए हुआ है और यह ऑक्ट्रो के लिए  किया जा रहा है.  लेकिन यह फ्रॉड है, क्योंकि कस्टमर ने न तो कार्ड की जानकारी किसी को दी है और न ही कभी गेम खेला है. गूगल के मुताबिक पहले कस्टमर ये सुनिश्चित कर लें की घर के बच्चे गलती से ऐसा  कर देते है इसलिए चेक करें.


अगर आप श्योर हैं कि आप इस ट्रांजैक्शन में भागीदार नहीं हैं, तो गूगल सपोर्ट टीम में कंप्लेंट कर सकते हैं. लेकिन ऐसे ट्रांजैक्शन के 15 दिन के भीतर ही कंप्लेंट करनी है. इसके अलावा पुलिस में और बैंक में भी शिकायत की जा सकती है. 

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..