UP पूर्व मुख्यमंत्री Akhilesh yadav फिर से समाजवादी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिए गए हैं। आगरा अधिवेशन में उन्हें सर्वसम्मति से सपा अध्यक्ष चुना गया है।

akhilesh yadav in hindi Samajwadi Party new pad chief of sp खास बात है कि पहले अध्यक्ष का पद तीन साल के लिए होता था पर अखिलेश को पांच साल के लिए चुना गया है। इसके पहले हुए राज्य स्तरीय सम्मेलन में सपा का प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल को चुना जा चुका है। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते ही सपा की कमान पूरी तरह अखिलेश के हा‌थों में आ गई है, जबकि प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल भी अखिलेश खेमे के ही हैं।

 अखिलेश को एक जनवरी 2017 को सपा संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव को पद से हटाकर अध्यक्ष बनाया गया था।

2019 लोकसभा चुनाव की तय रूपरेखा

 अताउर्रहमान ने कहा कि इस सम्मलेन में 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी पर खाका खींचा जाएगा. मोदी और योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ सपा के कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर संघर्ष करेंगे. उन्होंने कहा कि अखिलेश  ने जो यूपी को विकास की रफ्तार दी थी उस पर बीजेपी सरकार ने ब्रेक लगा दिया है. राज्य के लोग अखिलेश राज को याद कर रहे हैं. आगरा सम्मेलन के जरिए पार्टी को नई दिशा मिलेगी. अताउर्रहमान ने कहा कि यूपी में होने वाले निकाय चुनाव को लेकर भी सम्मेलन में चर्चा होगी.

  मुलायम के एजेंडे को भी किया गया शामिल पिछले दिनों समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमले किए थे. मुलायम ने किसानों की बदहाली से लेकर राजनीतिक और आर्थिक मुद्दे उठाए थे. सूत्रों की मानें तो अखिलेश यादव ने उन्हें आगरा सम्मेलन के प्रस्ताव में शामिल कर लिया है. उसके तहत भी चर्चा होगी.

  एक दिन का सम्मेलन बाते दें कि समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय सम्मेलन महज एक दिन का होगा. इससे पहले लखनऊ में हुए राज्य सम्मेलन भी एक ही दिन का था जिसमें आर्थिक और राजनीतिक प्रस्ताव के जरिये सपा ने केंद्र और प्रदेश की बीजेपी सरकार को महंगाई और कानून व्यवस्था आदि मुद्दों पर सवाल खड़े किए गए थे.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..