आधा घंटा हो गया मोबाइल पर एक भी मेसेज नहीं, एक भी notification नहीं, एक भी मिस्ड कॉल नहीं... अजीब सी बैचेनी महसूस हो रही हे.

हमारी ऐसी हालत हो जाती हे जैसे किसी ने हमसे हमारी जान मांग ली हे. हर दो मिनट में फोन उठाकर चेक करते हे. घबराएँ नहीं सिर्फ आपका ही नहीं, ज्यादातर लोगों का यही हाल हे. हमारी लाइफ को easy बनाने वाला स्मार्टफोन ही हमारी स्ट्रेस का कारण बन गया हे. आईये जाने कौन-कौन से मोबाइल स्ट्रेस हे और कैसे निपट स्मार्टफोन के स्ट्रेस से.
Smartphone Reason Of Stress
1. कहीं बैटरी डाउन ना हो जाएँ
ज्यादातर लोगों की यही दिक्कत हे, की यार मोबाइल की बैटरी डाउन ना हो जाएँ. अगर बैटरी 40% से नीचे हो जाये तो दिल की धड़कने तेज होने लगती हे.

क्या करें
शाम को मोबाइल को फुल चार्ज कर ले. पॉवर बैंक साथ रखें. सुबह जब आप तैयार हो रहे हे तब मोबाइल चार्ज कर ले.

2. कोई जरुरी मेसेज छुट ना जाएँ
किसी का कोई जरुरी मेसेज हमसे छुट ना जाएँ. यह दिक्कत ज्यादातर वोर्किंग लोगों को रहती हे क्योंकि उनका ज्यादातर काम मोबाइल से ही होता हे. 

यह भी पढ़े कहानी माँ के तीन गहने

क्या करें
सोशल मीडिया notification on रखें. ऑफिस या घर के बाहर मेसेज का टोन बढाकर रखें.

3. मेरी फोटो को इतने कम लाइक्स क्यों मिले
यह तो आज का सबसे बड़ा दुःख हे की यार इतनी अच्छी फोटो थी पर इतने कम लाइक्स कैसे मिलें. अक्सर फोटो अपलोड करने के बाद लोग बार-बार चेक करते रहते हे की कितने लिखे मिले. अगर कोई भी responce उनके मन-मुताबिक नहीं होता हे तो उन्हें स्ट्रेस होने लगता हे.

क्या करें
फोटो अपलोड करने के बाद थोडा सब्र रखें. तुरंत रिएक्शन की उम्मीद ना करें. आपके फ्रेंड भी जरुरी काम में बिजी हो सकते हे. लाइक्स को प्यार और केयरिंग का पैमाना ना बनायें. क्या फर्क पड़ता हे की कम लिखे मिले रियल में आपसे प्यार करने वाले तो आपके साथ ही हे ना.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..