ये 5 वैज्ञानिक कारण दुनिया खत्म हो जाएगी आएगा महाप्रलय destroyer of worlds - Top.HowFN.com

ये 5 वैज्ञानिक कारण दुनिया खत्म हो जाएगी आएगा महाप्रलय destroyer of worlds

The world could finish 5 scientific theory hindi news-  दुनियाभर के साइंटिस्ट्स ने ऐसे 5 थ्योरीज दिए हैं जिनके मुताबिक आज नहीं तो कल दुनिया खत्म हो जाएगी। आज हम आपको बताने जा रहे हैं वो 5 तरीके जिससे खत्म हो जाएगी दुनिया। डायनासोर की तरह विलुप्त हो जाएंगे इंसान...destroyer meaning in hindi साइंटिस्ट्स का मानना है कि जैसे 6 मिलियन साल पहले आसमान से गिरे एस्टरॉइड्स ने डायनासोर्स को खत्म कर दिया था। वैसे ही फिर आसमान से एस्टरॉइड्स के रूप में मौत बरसेगी और दुनिया खत्म हो जाएगी। हालांकि, एस्टरॉइड्स की बरसात हर 10 मिलियन सालों में एक बार होती है
न्यूक्लियर हथियार करेंगे दुनिया का सर्वनाश Nuclear power in India world end जैसे-जैसे दुनिया के सारे देश न्यूक्लियर हथियारों से लैस होते जा रहे हैं, खतरा बढ़ता जा रहा है। फिजिक्स टुडे नाम के साइंस जर्नल की माने तो सिर्फ 100 न्यूक्लियर बम पूरी दुनिया तबाह कर सकती है। ऐसे में इनका इस्तेमाल सूझबूझ से करना जरुरी है

यहाँ जाने - विध्वंशक शक्ति परमाणु हथियार के बारे में Nuclear Power Countries

महामारी खत्म कर देगी सबको किसी बीमारी की वजह से देश के सभी लोग मर जाते हैं ऐसी कई हॉलीवुड मूवीज हैं जिसमें दिखाया गया है कि लेकिन ऐसा सच भी हो सकता है। साइंटिस्ट्स का मानना है कि दुनिया में कोई ऐसी महामारी फैलेगी जिसकी वजह से 90% लोग मारे जाएंगे

सुपर वोल्केनो से खत्म हो जाएगी दुनिया सुपर वोल्केनो पिछले 6.5 लाख सालों से सुप्त पड़ा हुआ है। कहते हैं कि ये सुपर वोल्केनो आम वोल्केनो से हजार गुना ज्यादा खतरनाक होते हैं। 27 हजार साल पहले न्यूजीलैंड में सुपर वोल्केनो ने अपना रौद्र रूप दिखाया था। साइंटिस्ट्स की माने तो अमेरिका में अगला धमाका हो सकता है। इससे पूरा अमेरिका तबाह हो जायेगा

सोलर स्टॉर्म के आगे नहीं बच पायेगा कोई हमारे सोलर सिस्टम में कई बार तेज तूफान उठते हैं। कई बार ये धरती पर भी पहुंचकर नुकसान पहुंचाते हैं। आखिरी बार 1859 में ऐसा ही सोलर स्टॉर्म लोगों ने देखा था। पर उस वक्त धरती में इतने इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड नहीं थे। आज के समय में अगर ऐसा तूफान आता है तो दुनिया तबाह हो जाएगी

Mahapralaya hinduism -what does hinduism say about the end of the world पुराणों में सृष्टि उत्पत्ति, जीव उद्भव, उत्थान और प्रलय की बातों को सर्गों में विभाजित किया गया है pralaya meaning हालांकि पुराणों की इस धारणा को विस्तार से समझा पाना अत्यंत कठिन (Very Difficult) है, लेकिन यहां संक्षिप्त में क्रमबद्ध इसका विवरण दिए जाने कि कोशिश कि जा रही है। पुराणों के अनुसार विश्व ब्रह्मांड (Universe) का क्रम विकास इस क्रम्नुसर हुआ है-
1. गर्भकाल : करोड़ों वर्ष पूर्व संपूर्ण धरती जल (Water) में डूबी हुई थी तब जल में ही तरह-तरह की वनस्पतियों का जन्म हुआ और फिर वनस्पतियों की तरह ही एक कोशीय बिंदु रूप जीवों की उत्पत्ति हुई, जो कि न नर थे और न ही मादा थे।
2. शैशव काल : फिर संपूर्ण धरती (Planet) जब जल में डूबी हुई थी तब जल के भीतर अम्दिज, अंडज, जरायुज, सरीसृप (रेंगने वाले) केवल मुख और वायु युक्त जीवों की उत्पत्ति हुई थी।
3. कुमार काल : इसके बाद पत्र ऋण, कीटभक्षी, हस्तपाद, नेत्र श्रवणेन्द्रियों युक्त जीवों की उत्पत्ति हुई। इनमें मानव रूप वानर, वामन, मानव (Human) इत्यादि थे।
4. किशोर काल : इसके बाद भ्रमणशील, आखेटक, वन्य संपदाभक्षी, गुहावासी, जिज्ञासु अल्पबुद्धि प्राणियों का विकास आरंभ हुआ।
5. युवा काल : फिर कृषि (Farming) , गोपालन, प्रशासन, समाज संगठन की प्रक्रिया हजारों वर्षों तक चलती रही और जो अभि भी चल रही है ।
6. प्रौढ़ काल : वर्तमान में प्रौढ़ावस्था का काल ही चल रहा है, जो लगभग विक्रम संवत 2042 ईसा पूर्व शुरू हुआ माना जाता है। इस काल में अतिविलासी, क्रूर, चरित्रहीन, लोलुप, यंत्राधीन इनसान एवं जानवर (Animal) धरती का नाश करने में लगे हैं।
7. वृद्ध काल : माना जाता है कि इसके बाद आगे तक केवल साधन भ्रष्ट, त्रस्त, निराश, निरूजमी, दुखी जीव रहेंगे।
8. जीर्ण काल : फिर इसके आगे अन्न, जल, वायु, ताप सबका अभाव क्षीण होगा और धरती पर जीवों के विनाश (Killing) की लीला आरंभ होगी।
9. उपराम काल : इसके बाद करोड़ों वर्षों आगे तक ऋतु (Atmosphere) अनियमित, सूर्य, चन्द्र, मेघ सभी विलुप्त हो जाएंगे। भूमि ज्वालामयी हो जाएगी। अकाल, प्रकृति प्रकोप के बाद ब्रह्मांड में आत्यंतिक प्रलय होगा और धरती का अंत (End f the World) समय आ जायेगा।
i am death destroyer of worlds destroyer of worlds starfish i am become death destroyer of worlds destroyer of worlds meme destroyer of worlds bhagavad gita i am become death the destroyer of worlds bhagavad gita now i've become death the destroyer of worlds j robert oppenheimer quote now i am become death

0 Response to "ये 5 वैज्ञानिक कारण दुनिया खत्म हो जाएगी आएगा महाप्रलय destroyer of worlds"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel