रिलेशनशिप टिप्स Relationship advice for couples men Women - Top.HowFN.com

रिलेशनशिप टिप्स Relationship advice for couples men Women


प्यार एक बेहद ही खूबसूरत रिस्ता है. यह एक ऐसा रिश्ता है जिसके मिलने के बाद हर किसी की जिंदगी पूरी तरह से बदल जाती है. प्यार में इंसान पूरी तरह बदल जाता है. उसकी आदते, उसका व्यवहार आदि. कई बार यह परिवर्तन अपना आप आता है तो कई बार सामने वाले की इक्छा के खातिर व्यक्ति खुद को बदल देता है.

प्यार में पड़े हुए लोग अपने लवर की ख़ुशी को पूरा करने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते है. क्योकि वो रिश्ते के लिए इतने भावुक होते है की उन्हे यह लगने लगता है की यदि वी सामने वाले की नही सुनेंगे तो सामने वाला उन्हे छोड़ के चले जाएगा.

अगर हम रिश्तो की बात करे तो दुनिया के हर एक रिश्ते की बुनियाद प्यार और भरोसे पर टिकी होती है. छोटी छोटी ग़लतियो से इनमे दरार आ जाती है. कई बार तो दरार इतनी ज़्यादा भी बढ़ जाती है की लोग रिस्ते तोड़ने की बात करने लाते है. इसलिए यदि हम प्यार का रिश्ता बनाते है तो कोशिश करे की आप इसे अच्छे से निभा भी सके. जितना हो सके ग़लतियो से बचे
Rishto Ko Behtar Banane Ke Liye Tips hindi
Healthy Realtionship Advice in Hindi
दोस्तो से दूरी ना बनाए

प्यार मई पढ़ते ही लोग सबको भूल जाते है. वो अपने रिलेशन्षिप मई इतना ध्यान देने लगते है की उन्हे अपने दोस्तो से मिलने का मौका भी नही मिल पता है. आएसा कतई ना करे. क्योकि आपके दोस्त ही वो लोग है जो आपका जिंदगी भर साथ देते है. आपके पार्ट्नर को इंप्रेस करने मई भी और यदि आपका पार्ट्नर आपको छ्चोड़ के चले जाए तो आपके दोस्त ही आपके दुखो पर मलम लगते है.

इसलिए रिलेशन्षिप मई आने से पहले जिन लोगो के साथ आप पूरा दिन बिताया करते थे, उनके लिए भी अपना वक्त निकले. ख़ासकर पुरुष महिला के साथ वक्त बिताने के लिए अपने दोस्तो से मिलना ना भूले.

भरोसा करना सीखे

प्यार मई थोड़ी जलन तो आम बात है. लेकिन इसका मतलब यह नही की आप इसे करते जाए. रिलेशन्षिप मई आने के बाद बहुत बार आएसा होता है की आपका पार्ट्नर आपका कॉल नही उठा पता है या फिर आपसे मिलने के लिए समय नही निकल पता है इसका मतलब यह नही है की आप उनपर शक करे. बार बार शक करने से भी रिश्तो मई दरार आ जाती है. यह ग़लतिया औरते ज़्यादा करती है. रिलेशन्षिप अड्वाइज़ फॉर विमन के अनुसार आएसा करने से बचे.

जब तक रिश्ते मई भरोसा नही होगा, रिश्ता मजबूत नही होगा. यदि किसी वजह से आपको आपके पार्ट्नर पर शक है तो खुल कर उससे बात करे, उसकी जासूसी करने की कोशिश ना करे. और आपको बहुत ज़्यादा ही लग रहा है की सामने वाला आपको चीट कर रहा है. तो वैसे रिश्ते मई ना रहे. क्योकि बिना विश्वास के तो रिश्ता सफल हो ही नही सकता है.

प्यार के लिए कुछ भी

कुछ लोग सोचते है की प्यार के लिए वो कुछ भी करेंगे. लेकिन आपको क्या लगता है प्यार के लिए कुछ भी करना सही है. प्यार मई सामने वालो की ख़ुसीयो का ध्यान रखना चाहिए. लेकिन सारी चीज़े मर्यादा मई रखते हुए. कुछ लोग प्यार मई इतना डूब जाते है की अपने मा बाप, अपने दोस्तो, अपने काम काज सभी को भूल जाते है. आएसा कतई ना करे. प्यार करे लेकिन दूसरे रिश्तो का भी ख्याल रखे.

ज़्यादा उम्मीद ना करे

रिलेशन्षिप मई रहने के बाद कुछ लोग अपने पार्ट्नर्स के लिए बहुत कुछ करते है. जैसे उन्हे समय देना, उनके लिए कुछ भी कर गुज़रना. आएसए लोग सामने वालो से भी यही उम्मीद करते है की सामने वाला भी उन्हे उतनी ही इंपॉर्टेन्स दे, उतनी ही केर करे आदि. लेकिन आएसा नही होता. दो अलग अलग व्यक्तियो की प्यार केने की आदते अलग अलग होती है. कुछ लोग प्यार को सबसे उपर मानते है वही कुछ लोग प्यार को जिंदगी के अन्या हिस्सो की तरह ही मानते है.

इसलिए कभी भी अपने प्रेमी पर हद से ज़्यादा प्रेशर ना बनाए. नही तो वो आपको छ्चोड़ कर भी जेया सकते है.

सामने वेल से बाते करे

रिलेशन्षिप मई सामने वेल से बाते करने का भी अलग ही महटवा रहता है. और बाते करना भी चाहिए. बाते करने से सामने वेल की पसंद ना पसंस्ड का भी पता चलता है. क्योकि जब आप सामने वेल की पसंद के बारे मई नही जानते है तो आपका रिश्ता आयेज नही बढ़ पता है. जिसके कारण रिलेशन्षिप मई प्यार कम हो जाता है और मनमुटाव बढ़ने लगता है.

सामने वेल को Judge ना करे

किसी को भी अक्चा नही लगता की उन्हे कोई  Judge करे. इसलिए यदि आपको सामने वेल को जड्ज करने की आदत हो तो आएसा करना छ्चोड़ दे. इससे आपके रिश्ते मई नेगेटिव फीलिंग्स भी आ सकती है. यदि आप हेल्ती रिलेशन्षिप चाहते है तो अपना व्यवहार सामानया रखे.

अपनी ख़ुसीयो का ध्यान रखे

अपनी गर्लफ्रेंड की ख़ुसीयो के लिए ग़लती से भी अपनी खुिस्यो को ना भूले. रिलेशन्षिप मई होने का मतलब यह नही है की जैसा आपकी गर्लफ्रेंड कहती है वैसा करना ज़रूरी ही है. यदि आप अपनी फॅमिली के साथ समय व्यतीत करना चाहते है तो अपनी खुशियो का ध्यान मई रखे. ना की आपकी गिरफर्ीएंड जब कहे उससे मिलने चले जाए. अपने परिवार और अपने पार्ट्नर के बीच संतुलन बिताए. वो चीज़े करे जो आपको ख़ुसी देती है.

अपना आहार ना बदले

कभी भी अपने खाने पीने की आदते अपने साथी के लिए ना बदले. जैसे यदि आप वेगेटेरिना है और आपके पार्ट्नर आपको नॉंवेग खाने पर ज़ोर दे रहे है. तो उनकी ख़ुसी के खातिर भी आएसा ना करे. क्योकि सामने वाला यदि वाकई आपसे प्यार करता है तो आपके फ़ैसले पर अमल करेगा. लेकिन हा इसका मतलब यह भी नही है की सामने वाला आपको आपकी बुरी आदतो को बदलने के लिए कह रहा है जैसे सिग्ग्रेटे, शराब छोड़ने को तब भी आप कह रहो हो की हमारी जैसे मर्ज़ी हो हम वैसा ही करेंगे.

फेहनावे का ख़याल

पुरुषो मई यह आदत अक्सर देखी गयी है की वो दूसरी लड़कियो की तरह अपनी गर्लफ्रेंड ओर वाइव्स को कपड़े फेने के लिए कहते है. यदि उनकी पार्ट्नर शॉर्ट कपड़े पहनती है तो वो उन्हे अकचे और ट्रडीशनल लिबास पहनने के लिए कहते है. वही यदि वो ट्रायडतीोनल कपड़े पहनती है तो वो उसे मॉडर्न और शॉर्ट कपड़े पहनने का सुझाव देते है.

आप किन कपड़ो मई सुंदर लगती है यह तो आपका साथी ही बता सकता है. लेकिन किसी को भी उनके कपड़े की पसंद के लिए दबाव नही डालना चाहिए. छोटे मोटे बदलाव की बात अलग है लेकिन सभी तरह के कपड़ो पर सवाल उठना सही बात नही है.

अपनी पहचान ना भूले

कुछ पुरुष आएसए होते है. जो अपनी महिला पार्ट्नर की ख़ुसी का बहुत ही ख्याल रखते है. अपनी हर ख़ुसी को भूलकर वो सामने वालो की सारी इक्चाओ को पूरा करने का प्रयास करते है. लेकिन आएसा करना सही नही है. क्योकि आएसा करने से आप खुद का इस्तेमाल होने से नही बचा पाएँगे. लेकिन हा अपने पार्ट्नर की नापसंद का ख्याल तो रखे लेकिन अपने आपको बिल्कुल उसके अनुसार बदलने का प्रयास ना करे.

भले ही आप रिलेशन्षिप मई है लेकिन अपनी मर्यादा को ना भूले. आप पति पत्नी हो तब तो ठीक है. लेकिन जब तक आपने शादी नही की हो अपनी सिमाओ को बाँध कर चले. यह सच है की प्रेम मई स्पर्श ज़रूरी है. लेकिन अपने प्यार को हगिंग और किस्सिंग तक ही रखे. आएसा कुछ ना करे, की यदि आपका पर्णतेर फ्यूचर मई आपसे शादी करने से माना कर देता है तो आपके पास पछताने के अलावा कुछ और ना बचा हो.

यदि किसी कोंापने मई या किसी कारया मई आप दोनो अलग अलग टीम को सपोर्ट करते है तो सामने वाली टीम को पक्षा बदलने के लिए ना कहे. तोड़ा बहुत कॉंपिटेशन तो चलता है. क्या पता यह ही आप दोनो को करीब ले आए.

हर किसी का जिंदगी जीने का अंदाज अलग अलग होता है. हर कोई अपने अनुसार ही जिंदगी जीना चाहता है. इसके लिए अपने पार्ट्नर की ख़ुसीयो का ख़याल ज़रूर रखे लेकिन उसके अनुसार जीने का प्रयास बिल्कुल ना करे. इसके अतरिक्ट अपने पार्ट्नर के साथ तालमेक बैठने की कोशिश करे, लेकिन अपनी बितहरी आवाज़ को नजारअंदाज ना करे.

कई बार तो लोगो मई टीवी देखने को लेकर झगड़ा हो जाता है. तो आएसए मई दोनो की पसंद का ख़याल रखना चाहिए. हो सकता है कोई शो आपको बहुत पसंद आता है लेकिन आपके साथी को वो पसंद नही है तो आप उसे उसके पसंद का सीरियल देखने दे. लेकिन इसका मतलब यह नही है की आप हर बार अपनी पसंद को sacrifice करे.

0 Response to "रिलेशनशिप टिप्स Relationship advice for couples men Women"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel