Guest Post - आपका Top.HowFN पर हार्दिक स्वागत है..

हम हमेशा अपने आने वाले Users को प्रोत्साहित करते हे की वे original article लिख कर योगदान दे.... यहाँ लिखे अपने गाँव, सिटी, दुकान, या अपने बारे में अपनी समाज जाती सामाजिक विषय के लेख कम से कम 300 से 500 शब्दों में लिखे या विशेष विषय में लिखेंगे तो और भी अच्छा होगा जैसे - हेल्थ से रिलेटेड, पढ़ाई टिप्स, टेक्नोलॉजी, शायरी, भगवान की कहानी...जो भी आप लिखो बस ज्ञान वर्धक हो...आपकी जानकारी हमेशा के लिए अमर कर सकते हो, एक अच्छे भारतीय की पहचान इंटरनेट पर हिंदी भाषा को बढावा देने में योगदान दे

 हमारे site के व्यापक दर्शकों के सामने रखें..आप की help करना और नए audience तक article पहुचाना हमारा उद्देश्य है. आप अपना talent share करें....यह बहुत ही लोकप्रिय हिंदी site है...आप चाहे तो कमैंट्स कर के भी अपनी बात रख सकते है

49 Responses check and comments

  1. स्वार्थ, लालच, और अपना अहंकार मनुष्य जीवन की विकृति है जिसे मनन शील व वैचारिक उत्तम पुरुष ही अपने से दूर रख सकता है। किसी एक मे भी यदि यही विकृति अहंकार स्वरूप शतत बरकरार रहती है तो इसमें पारिवारिक विघटन होना स्वभाविक सा है जिसमें आपसी वैमनस्य भाव लगातार घटने के बजाय हमेशा बढ़ता ही जाता है। और स्थिति बेकाबू होकर उसके रूप को सम्हालने के बजाय लोगो का आग में घी डालने जैसे काम भी अनचाहे यथावत जारी हो जाते है। वैसे वास्तव में देखा जाय तो परिवारिक विघटन में मध्यस्थ की भूमिका का सर्वोपरी व विशेष महत्व होता है जिसके लिए या तो ऐसे लोग प्रयास नही कर पाते या किसी दबाव विशेष के कारण इस विषय पर अपनी रुचि को नगण्य कर लेने से विघटित स्थिति में कोई परिवर्तन नही हो पाता है। और ना ही कोई परिवारीक समझदार बुजुर्ग अपनी रुचि लेकर इस ओर पहल के लिए तैयार होता है उल्टा एक दूसरे की आपसी खामियों को ही ढूंढने की फिराक में मसले को ओर लम्बा कर दिया जाता है जबकि सत्यता, कारण, ओर वास्तविक स्थिति को सुलझाने का उपाय कोई नही ढूंढता है। ओर इसमें सटीकता से सही निर्णय लेने के बजाय माहौल से अपने अपने फायदे नुकसान का आंकलन ही किया जाता है।ओर यह देखा जाता है कि कौनसे के पास पॉवर, पैसा ब्यवहार बुद्धि ज्यादा है जो न्याय में बिल्कुल सही नही है। स्थिति को अपने विवेक से पूरा समझकर कर फैसला करने वाले लोग आज दुर्लभ है। झगड़े विनाश का कारण होने के साथ साथ विकास में भी बाधक होते है जिसे हर मनुष्य को समझना चाहिए । मनुष्य जीवन के एक पल का भी भरोसा नही दिया जा सकता फिर अहंकार, वैमनष्यता, वैरभाव, लड़ाई झगड़े आदि क्यो? वैसे दुनिया नश्वर है ओर सत्यता भी यही है कि सब कुछ यही धरा रह जायेगा। अच्छा बुरा लोगो द्वारा उस मनुष्य के चले जाने के बाद उसकी अच्छाइयों बुराइयों को आपसी चर्चा में ही बताएंगे।

    ReplyDelete
  2. आत्म सम्मान पतन में मनुष्य खुद स्वयं ही जिम्मेदार होता है। चाहे परिस्थितियां कुछ भी रही हो। परन्तु इसमें कारण भी वही है और कर्ता भी वही है।
    इसका शुद्ध विचारो से आंकलन ओर मनन किया जाय तो कुछ इस तरीके की वास्तविकताएं हमारे सामने आती है जिसका मूल कारण वही मनुष्य होता है। जैसे कि
    1, अनावश्यक झूँठ बोलना,
    2, अनावश्यक डींगें हांकना,
    3, अनावश्यक बड़प्पन जताना,
    4, काम चोर होना,
    5, अपने से बड़ो का सम्मान न करना
    6, बिना कारण अनावश्यक टांग अड़ाना
    7, दिखावे का ढोंग रचना
    8, झूंठी तस्सली देकर बहलाना
    9, धोखा देकर धन संम्पति हड़पना
    10,जबान से मुकर जाना, आदि आदि कई तरह से मानव खुद ही अपना आत्म सम्मान खो देते है। जिसके लिए हर मनुष्य को मनन अवश्य करना चाहिए।

    ReplyDelete
    Replies
    1. खण्डेला सेन मन्दिर के जीर्णोद्धार हेतु की गई तोड़ फोड़ में दीवारों पर निकले औरंगजेब काल से कई वर्षों पुरानी पत्थर की कारीगरी की मूर्तियां , खण्डेला बहुत ही पुराना कई बार बसा हुआ कस्बा है। कहते है कि यहाँ पहले जैन मंदिर था जो बाद में मोहनजी के मंदिर के नाम से विख्यात हुआ इसी के रक्षार्थ औरंगजेब की सेना से लड़ते हुए श्री सुजान सिंह छापोली झुंझार हुए जिनका मोहरा आज भी खण्डेला चोपड़ पर बने गेट के पास लोगो की याद में है जिस पर श्रद्धा स्वरूप आज भी पूरा विश्वास लोगो मे ब्याप्त है कि मोहरे का पानी नजर व बीमारीयों का नाशक है। खण्डेला का इतिहास बहुत पुराना व काफी रोचक है।

      Delete
    2. Please call me 9813420347

      Delete
  3. Lalit ji bhut he accha liha apne agr aap hamare site par daily post article likhna chahte ho to kripya upper ka form bhare or send kr de...apke soch ko hum dunia ke samne rakhenge

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद आपकी साइट ने मुझे यह सुअवसर प्रदान किया कि ओर मेरी लेखनी को दुनिया के सामने लाने का एहसास दिलाया।
      जीवन मे प्रत्येक मानव अपनी पहचान के लिए कुछ न कुछ इस तरह के कार्यो में लिप्त होता है परन्तु मेरा यह शतत प्रयास है कि में अच्छा लिखू ओर अपनी लिखी बात को जन भावना के साथ उससे मिलने वाले ज्ञान को फैला सकू।

      Delete
  4. Old coin very new condition
    And one rupees not

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका मतलब कुछ समझ नही पाया

      Delete
    2. Lalit je apka... Number do

      Delete
  5. Old coin five rupees and one rupees very new condition and one rupees k six not

    ReplyDelete
  6. ललित जी शर्मा..
    बहुत ही सूंदर लेख जो सभी को ज्ञान देगा बहुत बहुत आभार

    ReplyDelete
  7. *ब्रूसीलोसिस व मानव स्वास्थ्य *
    ब्रूसीलोसिस मूल रूप से पशुओं का रोग है लेकिन इसके बैक्टीरिया से दूषित दूध, मांस, गोबर, मूत्र, प्लेसेंटा ( जेर) आदि के जरिए मनुष्य में भी फैल जाता है मनुष्य में इसे अन्डुलेन्ट फीवर या माल्टा फीवर के के नाम से जाना जाता है। मनुष्य के मुख्य रूप से सांस मुंह त्वचा तथा आंख की म्यूकस मेंब्रेन द्वारा शरीर में इसका इंफेक्शन हो सकता है पशुओं के गर्भाधान द्वारा निकलने वाले मृत भ्रूण व प्लेसेंटा (जेर) में बैक्टीरिया की संख्या सबसे सर्वाधिक होती है। इसलिए इनके संपर्क में आने वाले पशु पालक व अन्य लोग ब्रूसीलोसिस के चपेट में आ जाते हैं यहां विशेष बात यह है। कि जिन गांव घरों में अधिकांश लोग बकरियां पालते है ओर चराई ब्यवस्था के लिए रेवड़ व्यवस्था पर ही निर्भर होते है वहां चरवाहा के अपने घर पर गांव की उन सभी बकरियों को एक जगह इकट्ठे करवाई जाती है। इसलिए इंफेक्शन वहां से सभी घरों में फैलने की संभावनाएं बन जाती है मनुष्य शरीर में इस बैक्टीरिया के प्रवेश करने के कुछ दिन बाद ही रोग के लक्षण प्रकट हो जाते हैं शुरू में रोगी को 101फ़ारेनहाइट से 104फारेनहाइट बुखार होता है ठंड लगती है सिर पीठ व जोड़ों में दर्द रहता है भूख कम लगती है और खास बात यह है कि रात को रोगी को पसीना आता है यह स्थिति काफी दिनों तक चलती है जो छह माह तक भी रह सकती है जिससे रोगी काफी कमजोर हो जाता है बाद में रोगी नर की सेक्स डिजायर भी कम हो जाती है तथा अंडकोषों में सूजन आकर कई रोगी नपुंसक भी हो जाते है। ग्रामीण क्षेत्र में सम्पूर्ण डायग्नोसिस की पर्याप्त सुविधाएं नहीं होने से पशुपालक ब्यवसाय से जुड़े काफी लोग असावधानियों की वजह से इस रोग से शिकार हो जाते हैं और समय पर डायग्नोसिस नहीं हो पाता है इसका कोई स्थाई उपचार फिलहाल नहीं है सावधानी के साथ रोकथाम ही एक अच्छा उपाय है वैसे एंटीबायोटिक्स दी जाए तो आराम मिलता है दर्द व बुखार के लिए एन्टी पायरेटिक व एनाल्जेसिक दी जाती है तथा एंटीबायोटिक्स से शरीर के प्रति कोई कुप्रभाव ना हो अतः बीकॉम्प्लेक्स भी देनी चाहिए। क्यो की अधिकांश में दवा उपयोग के बाद एलर्जिक फुंसियां देखी गई है।

    ReplyDelete
  8. कविता
    पुत्री जन्म गम नहीं सोभाग्य है:-
    एक पिता का मान है सम्मान है
    और गौरव सा अरमान है।
    घर नहीं वह मन्दिर है
    जंहा पुत्री का जन्म हुआ
    प्यार से पालो ख़ुशी दिलाओ
    जन्मे पुत्री ख़ुशी मनाओ
    जिस पर खुद को नाज हो
    जैसे सिर पर शाही ताज हो
    भाग्यशाली वह मात पिता
    जिसने पुत्री जन्म दिया
    संस्कार से पालन करके
    मन से कन्यादान किया
    यज्ञ निति से करी बिदाई
    गर्वित अवसर पा लिया ।
    मानो या ना मानो,
    पुत्री तो वह हीरा है
    जो जोडे दो परिवार दिलो को
    मेल मिलाप सोभाग्य दिलाती
    वंश नाम को रोशन करती
    पुत्री तो रिश्तों में मददगार है
    गम नहीं सोभाग्य है।
    ललित प्रसाद शर्मा वार्ड नंबर 01 खंडेला सीकर राज. 9414213685

    ReplyDelete
  9. agr koi banda aapke liye guest post likhega to kya aap use payment kroge

    ReplyDelete
  10. Ji..hum payment karte hai... post helpful hone par..or daily jo post likhene wale ko

    ReplyDelete
  11. Sir I want to become a ips officer
    To me kya karu

    ReplyDelete
  12. kya bat kya bat durgesh ji wah wahh....

    ReplyDelete
  13. 12 arts kar li hai IPS banner me like kya karu

    ReplyDelete

  14. " लब्ज़ ही ऐसी चीज़ है
    जिसकी वजह से इंसान
    या तो दिल में उतर जाता है
    या दिल से उतर जाता है "


    ज़िन्दगी के इस कश्मकश मैं
    वैसे तो मैं भी काफ़ी बिजी हुँ ,
    लेकिन वक़्त का बहाना बना कर ,
    अपनों को भूल जाना मुझे आज भी नहीं आता !


    जहाँ यार याद न आए वो तन्हाई किस काम की,
    बिगड़े रिश्ते न बने तो खुदाई किस काम की,
    बेशक अपनी मंज़िल तक जाना है,
    पर जहाँ से अपने ना दिखे
    वो ऊंचाई किस काम की..

    ReplyDelete
  15. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  16. मुझे आपके ब्लॉg के लिए लिखना है यह मेरा नंबर है 90673 497218

    ReplyDelete
  17. Higher Education Consaltancy service provied all over india and foren This company spv education Pvt.ltd

    ReplyDelete
  18. हेलो फ्रेंड्स
    आज में आपके साथ एक अपनी कहानी shere करना चाहता हु में एक गरीब परिबार से हु। लेकिन मैंने अपना करीयर बहुत ही मुस्किलो में बनाया ,मेरे पास न ही इतने पैसे थे की मे कोई अच्छा कॉर्स कर सकता लेकिन मेरे साथ मेरी किस्मत थी और मैंने अपनी किस्मत गोरमेंट जॉब में अजमानी चाही लेकिन में चूक गया में एग्जाम में पास नहीं हो पाया। लेकिन मैंने हा र नहीं मानी। में एक बार और try करना चाहता था but में इस बार कोई न मौका नहीं छोरना चाहता था। .इस बार मेरी किस्मत रंग लाई और में एग्जाम में पास हो गया। चयन p w d .दोस्तों ये मेरी मेहनत का फल था। .दोस्तों में इस बात से ये स्पश्ट करना चाहता हु की कोई बी महनत बिर्थ नहीं होती। .मेरी तरह आप बात एक अच्छी जॉब प् सकते।
    धन्याबाद दोस्तों

    ReplyDelete
  19. मुझे रिलायंस जियो का टावर लगवाना है

    ReplyDelete
  20. Deepak rana shahjahanpur up baki jankari phone pe 7983826954

    ReplyDelete
  21. शादी के लिए लड़की चाहिए गरीब घर की मेरा नाम गगन है कृपया मेरे नंबर पर कॉल करें 78271 01607

    ReplyDelete
  22. रौशनी हो अगर खुदा को मंजूर ,तो आंधियों में चिराग जलते हैं: "खुदा गवाह है"

    ReplyDelete
  23. Hum bhi ye jobs karna chahte hai,my whottsopp n.8009223052

    ReplyDelete
  24. Hello sir mere liye koi kaam h to btana my phone number 9773650608,7532923282

    ReplyDelete
  25. Umesh 8605252108 9168169780 age 25
    Umeshpowar62@gmail.com

    ReplyDelete
  26. Agar me kisi ke kam a sakta hu please ye mera number h 9193976828 call me

    ReplyDelete
  27. एडमिन जी नमस्कार ,
    आपका साइट हिंदी में है अच्छा लगा | हिंदी को आप बढ़ावा दे रहे है अच्छी बात है परन्तु आपके कमेंट सेक्शन में बहुत सारी अश्लील बाते मैंने देखी और तो और गूगल बिज्ञापन भी उसी तरह का आ रहा है | क्या आप कमेंट को मॉडरेट नहीं करते ? या फिर आपको इन सब चीजों से कोई आपत्ति नहीं है | हिंदी भासी होने के नाते आपसे उम्मीद करता हु की आपका साइट साफ सुथरा हो ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग चाहे बच्चा हो या बूढ़ा लड़का हो या लड़की सभी इस साइट पे अच्छी अच्छी जानकारिया ले सके , उम्मीद है की आप इस बात को समझेंगे |
    धन्यवाद् |

    ReplyDelete
  28. My no.8418007793
    Agar kisi ko jarurat hai to call kr sakta hai

    ReplyDelete
  29. My contacts no 9265826081🔈

    ReplyDelete
  30. My name is rakesh
    Age 29
    Hight 6.5'
    I naver to give any narcotics
    I am interested to sprm donate
    Contact my mail .rakesh.ptl4@gmail.com
    Mobile no.+9170664588

    ReplyDelete
  31. I agree this job please contact me
    7412933933

    ReplyDelete
  32. मेरा नाम संजय है मैं स्पोर्ट्स डोनट करना चाहता हूं मेरा उम्र 23 साल,6200951411 यह मेरा नंबर

    ReplyDelete
  33. Mai bhi karna chahta hu dunet 9536597866

    ReplyDelete
  34. Sikandar Patel 22 year 9455457858

    ReplyDelete

Home