Featured Posts

देवकीनंदन ठाकुर mp से लड़ेंगे पहला चुनाव पार्टी तैयार devkinandan party name mp election

Devkinandan Thakur Political Party कथावाचक पं. देवकीनंदन ठाकुर ने आगामी विधानसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में अपनी पार्टी बनाकर चुनाव में उतरने का ऐलान किया है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा है की वो कभी भी चुनाव नहीं लड़ेंगे लेकिन वो अपनी पार्टी से उम्मीदवार उतारेंगे पं. देवकीनंदन ठाकुर इन इस समय अमेरिका में है। अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में वह भारत वापस लौटेंगे। पं. देवकीनंदन ठाकुर के प्रदेश में एससीएसटी आंदोलन में एक्टिव रहने के चलते उनके राजनीति में आने के कयास लगाए जा रहे थे।

अमेरिका से फेसबुक पर लाइव हो उन्होंने कहा कि प्रत्येक पार्टी जिन्होंने एससी एसटी एक्ट बनाया। डेढ़ से दो महीने होने को हैं कोई भी व्यक्ति, एक भी सांसद हम लोंगों की आवाज को सुन नहीं रहा। मैं सरकार के खिलाफ नहीं हूं। पं. देवकीनंदन ठाकुर ने पार्टी का ऐलान करते हुए कहा कि मैने लोगों से सुझाव मांगे थे तो अधिकांश लोगों ने मुझे एक ही सलाह दी है। लोग ये चाहते हैं की हम चुनाव लड़ें। मैं चुनाव नहीं लडूंगा। बल्कि युवाओं को चुनाव लड़ाऊंगा। मैं चाहूंगा युवा अब इस बात को समझें की हमे आगे बढना है।

  इसलिए उतर रहे राजनीति में

 पं. देवकीनंदन ठाकुर ने कहा कि वे अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में भारत वापस आएंगे। तब आगे की बात और बढ़ेगी। लेकिन इतने सांसदों के द्वारा जो हमे इग्नोर किया जा रहा है उससे ऐसा लग रहा है कि हमारा अपमान हो रहा है और ये अपमान मेरा नहीं हो रहा है, ये उन सभी लोगों का अपमान हो रहा है जो इस आंदोलन को कर रहे हैं। अब हम सबको एक होना होगा, एक बैनर के तले आना होगा।
मेरा निर्णय यह है की आप सब की सलाह के अनुसार अखण्ड भारत मिशन सबको साथ में लाएगा और सबसे पहले मध्य प्रदेश में चुनाव है तो अगर सरकार हमारी बात एक महीने में मान लेती है तो हम कथा ही करेंगे जहां हैं वहीं रहेंगे और अगर बात नहीं मानती है तो हम पार्टी बनाएंगे, हमारे लोग मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ाएंगे, एक झंडे के तले हम सब मिलकर चुनाव लड़ेंगे और 2019 में भी चुनाव लड़ा जाएगा, जहां जहां हमे लगेगा वहां चुनाव लडेंगे।

  इसलिए बना रहे पार्टी - पार्टी बनाने का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि हम पार्टी इसलिए बना रहे हैं क्योंकि अगर सदन में हमारे आदमी नहीं पहुंचे तो ये ऐसे ही कानून बनाते रहेंगे। ऐसे कई कानून इस सदन में बन चुके हैं जो नहीं बनने चाहिए थे। एक महीने में अगर हमारी बात नहीं मानी जाती है

तो हमारे सारे लोग मिलकर चुनाव लड़ेंगे। - पं. देवकीनंदन ठाकुर ने चुनाव में अपने उम्मीदवारों के चयन के बारे में भी बताते हुए कहा कि उम्मीदवार को बेदाग होना चाहिए, ईमानदार होना चाहिए। जो भी उम्मीदवार होंगे उनके लिए एक फॉर्म तैयार किया जाएगा, जो उन फॉर्म की शर्तों को मानेंगे उन्हे ही टिकट दिया जाएगा। वो देश के साथ गद्दारी नहीं करेंगे, धर्म के साथ गद्दारी नहीं करेंगे, समाज को बांटने का काम नहीं करेंगे ये तीन प्रमुख शर्तें होंगी।

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर

www.CodeNirvana.in

हमें यूट्यूब सब्सक्राइब करे यहाँ क्लिक
Copyright © kaise hota hai, how to, mobile phones price in hindi, keemat kya hai | Contact | Privacy Policy | About me