Dosto और मित्रो को सबसे पहले नये अंदाज में यह बधाई दे यहाँ क्लिक कर देखे
pranab mukherjee jivan parichay speech in rss nagpur hindi 
  • भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 
  • कैरियर कांग्रेस के टिकट से स्टार्ट किया
  • कांग्रेस सरकार की मदद से ही राष्ट्रपति बने 
लेकिन जब वही RSS संगठन के प्रशिक्षण वर्ग के निमंत्रण से 7 जून 2018 को प्रशिक्षण वर्ग में भाषण देने के लिए गए तो मानो कांग्रेस के नेताओं में भूचाल सा आ गया वह इसलिए क्योंकि कांग्रेस हमेशा RSS यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारधाराओं के खिलाफ रही है
 pranab mukherjee biography in hindi jivan parichay
 pranab mukherjee jivan parichay
 अब बात कर लेते हैं प्रणब मुखर्जी के जीवन परिचय के बारे में भारत की आजादी के बाद से ही संविधान लागू है और राष्ट्रपति का चुनाव होने लगा था भारत के 13वें जो राष्ट्रपति सत्ता में जो आये वह है महामहिम प्रणब मुखर्जी 2012 में देश के इस पद की गरिमा को बनाया इससे पहले वह कांग्रेस की ही सरकार में वित्त मंत्री भी रह चुके हैं
पूर्व pm मनमोहन सिंह से पहले प्रणब मुखर्जी ही पीएम पद के दावेदार थे

सोनिया गाँधी अंदरूनी मतभेद के कारण प्रणब मुखर्जी को उस समय सोनिया गांधी जो कांग्रेस के अध्यक्ष थी उनका कहीं ना कहीं पूर्ण सपोर्ट ना मिलने के कारण देश के प्रधानमंत्री नहीं बन पाए थे और मनमोहन सिंह मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री बने तब से प्रणब मुखर्जी में और कांग्रेस सरकार में मतभेद पैदा होते रहे हैं 2009 से 2012 तक देश के वित्त मंत्री रहे राजनीति के अलावा प्रणाम जी बहुत अच्छे कार्यकर्ता के रूप में भी रहे हैं
 प्रणब मुखर्जी का पूरा नाम प्रणब मुखर्जी है धर्म उनका बंगाली है जन्म 11 दिसंबर 1935 को हुआ था जन्म स्थान बीरभूम बंगाल माता पिता राजलक्ष्मी कामदा किंग कर मुखर्जी इनके पापा का नाम है विवाह सुरवा मुखर्जी से 1957 में हुआ था इनके शर्मिष्ठा एक बेटी है इंद्रजीत इनका बेटा है और अभिजीत भी इनका बेटा है इनकी राजनीतिक पार्टी शुरू से ही कांग्रेस रही है राष्ट्रपति बनने के बाद कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दिया था वापस से कांग्रेस पार्टी इन्होंने जॉइन नहीं की की बात करते हैं

 कैरियर pranab mukherjee ka karyakal in short 
  1. प्रणब मुखर्जी ने अपने कैरियर की शुरुआत पोस्ट एंड टेलीग्राफ ऑफिस में नौकरी करके की थी वह क्लर्क के रूप में नौकरी करते थे 
  2. 1963 में विद्यानगर कॉलेज में भी राजनीति शास्त्र के प्रोफ़ेसर भी बने साथ ही पत्रकार रहे देशेर डाक में प्रणब मुखर्जी ने राजनीतिक सफर की शुरुआत 
  3. 1996 में कर दी थी वह कांग्रेस का टिकट प्राप्त कर राज्यसभा के सदस्य चुने गए थे
  4. वह चार बार राज्यसभा के पद पर रहे 
  5. कुछ ही समय में इंदिरा जी के सबसे चाहते बन चुकी
  6. सन 1993 में इंदिरा इंदिरा जी के कार्यकाल चल रहा था उसी दौरान उनको मंत्रालय में औद्योगिक विकास मंत्री बनाए गए 
  7. 1975 और 77 में आपातकालीन स्थिति के दौरान भी प्रणब मुखर्जी पर बहुत से आरोप भी लगे लेकिन उस समय की मौजूदा प्रधानमंत्री इंदिरा जी की सत्ता आने के बाद उन्हें क्लीन चिट मिल गया
प्रणब मुखर्जी के स्वभाव के बारे में बात करते हैं

प्रणब मुखर्जी हमेशा से ही कट्टर माने जाते हैं इन्हें संगीत का बहुत शौक है पढ़ने लिखने बागवानी भी का यह रूचि दिखाते इनको

प्रसिद्धि हासिल हुई है उनके बारे में भी कुछ चर्चाएं कर लेते हैं इन्हें पदम भूषण से नवाजा गया है 2007 में, अब आपको कमैंट्स में बताना है प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल short essay on pranab mukherjee pranab mukherjee biography in short pranab mukherjee ka ghar pranab mukherjee book pratibha patil in hindi ram nath kovind in hindi  प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति कब बने प्रणब मुखर्जी मराठी माहिती प्रणब मुखर्जी पुस्तकें प्रणब मुखर्जी पिछले कार्य काल प्रणब मुखर्जी मिराती शुभ्रा मुखर्जी प्रणब मुखर्जी की किताब

कोई भी सवाल पूछे ?.या Reply दे

इस कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले हम अगले 48 घंटे में आपकी Information इसी साइट पर देने का प्रयास करेगे...विज्ञापन कमैंट्स ना करे अन्यथा 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर अपना ads दिखाए Top.HOWFN साइट पर