Latest

इन 8 कारणों से इंसान को डंसता है सांप saanp ka sapna


Why snakes shed their skin नहीं पता साप केचुली क्यों छोड़ता है साप अपने आप को तेज़ भागने के लिए और जब किसीऔर जीव को डरवाने के अहसास दिलाने के लिए वह केचुली छोड़ता है आइये अब जाने  इंसान को डंसता है सांप किस बजय से

सर्पदंश की वजह से भारत समेत दुनिया के कई देशों में बडी संख्या में लोग मारे जाते हैं। एशिया और अफ्रीका में बडी संख्या में सांप पाए जाते हैं और कई बार इनसे जुडी सामान्य जानकारी न होने की वजह से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पडती है सांप से हमेशा ही सावधान रहना चाहिए

क्योंकि इसके डंसने से मृत्यु भी हो सकती है। सांप किसी इंसान को बिना वजह नहीं डंसता है। सांप के जहर की एक बूंद से भी कई इंसानों की मृत्यु हो सकती है। ये जहर खून में मिलते ही बहुत तेजी से पूरे शरीर में फैलता है। सांप के जहर से बचने के लिए पीड़ित व्यक्ति को जल्दी से जल्दी डॉक्टर के पास पहुंचाना चाहिए।
शास्त्रों में 8 ऐसे कारण बताए गए हैं, जिनकी वजह से सांप इंसान को डंस सकता है। यहां जानिए ये कारण कौन-कौन से हैं...

1. यदि जाने-अनजाने किसी इंसान के पैरों के नीचे कोई सांप आ जाए और सांप पैरों से दबने लगे तो सांप तुरंत ही डंस लेता है।

2. यदि कोई व्यक्ति किसी सांप को नुकसान पहुंचाता है, मारने की कोशिश करता है तो उससे बदला लेने के लिए और खुद की जान बचाने के लिए सांप डंस सकता है।(यहाँ क्लिक कर जाने मंत्र इन उपायों से दूर हो सकती हैं बीमारियां और गरीबी)

3. यदि कोई व्यक्ति सांप के बच्चे को नुकसान पहुंचाता है तो सांप अपनी संतान की रक्षा के लिए भी डंस सकता है।

4. जब कोई सांप उन्मादी यानी पागल हो जाए तो वह किसी भी इंसान को कभी भी डंस सकता है।

5. एक मान्यता है भी कि किसी इंसान से दुश्मनी हो या नाग या नागिन को मार डाला हो तो जीवित नाग या नागिन बदला लेने के लिए डंस सकता है।

6. यदि कोई सांप भूखा हो तो वह किसी भी जीव को डंस सकता है।

7. शास्त्रों के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की मृत्यु सर्पदंश यानी सांप के डंसने से ही होना है तो उसे भी सांप डंस सकता है।(यहाँ देखे खाना खाने के तरीके जरूरी है भोजन नियम)

8. सांप डरपोक जीव होता है। इसी डर के कारण कई बार सांप इंसान को डंस लेता है।
जानकारी मदगार हो तो शेयर करे हमें अधिक जाने ClickMe
Please SHARE Whatsapp

0 Response to "इन 8 कारणों से इंसान को डंसता है सांप saanp ka sapna "

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Widgets