मोदी ने कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका से गुहार ? imran khan visit to usa narendra modi Donald Trump vivad - Top.HowFN

मोदी ने कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका से गुहार ? imran khan visit to usa narendra modi Donald Trump vivad


Imran khan visit to usa narendra modi Donald Trump vivad अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उस दावे का विदेश मंत्रालय ने खंडन किया है जिसमें उन्होंने कहा है जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कभी मदद मांगी थी.

भारत ने कहा कि पाकिस्तान के साथ केवल कश्मीर पर द्विपक्षीय बातचीत कर सकता है. कश्मीर पर भारत का रुख पहले की तरह बरकरार है और तीसरी पार्टी को हस्तक्षेप नहीं करने दिया जाएगा.

ट्रंप ने दावा किया कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनसे कहा था कि वह कश्मीर में विवाद के निपटारे में मदद करें और उन्हें मध्यस्थता करने में खुशी होगी. हालांकि व्हाइट हाउस की तरफ से ट्रंप-इमरान मुलाकात को लेकर जारी प्रेस रिलीज में ट्रंप के कश्मीर के संबंध में बयान का जिक्र नहीं है.

वाॅशिंगटन पाेस्ट की रिपाेर्ट में दावा- हर दिन 17 झूठ बोलते हैं राष्ट्रपति ट्रम्प

अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने रिपोर्ट में दावा किया था कि ट्रम्प ने दो साल के कार्यकाल में कुल 8158 बार झूठे बयान दिए। ट्रम्प ने 2018 में रोज 17 बार झूठ बोला।
मुद्दे ट्रम्प के झूठे बयान
इमीग्रेशन 1433
विदेश नीति 900
व्यापार 854
अर्थव्यवस्था 790
नौकरियां 755
अन्य मामले 899

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, 'हमने अमेरिका के राष्ट्रपति की टिप्पणी देखी कि यदि भारत और पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे पर अनुरोध करते हैं तो वह मध्यस्थता के लिए तैयार हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया है.

भारत अपने रुख पर अडिग है.


डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद ब्रैड शेरमैन ने कहा कि सभी जानते हैं कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कभी ऐसी बात नहीं करेंगे. डोनाल्ड ट्रंप का बयान गलत और शर्मनाक है.

अापकाे कराेड़ाें लाेगाें की दुअाएं मिलेंगी इमरान ने ट्रम्प से कहा 


इमरान : अमेरिका सबसे ताकतवर देश है। भारतीय उपमहाद्वीप में शांति स्थापित करने में वह महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। मेरा मानना है कि राष्ट्रपति ट्रम्प के नेतृत्व में यह सबसे ताकतवर देश ही दाेनाें देशाें (भारत-पाकिस्तान) काे एक साथ ला सकता है। हमने हर संभव काेशिश की है। बातचीत शुरू करने अाैर मतभेद सुलझाने के िलए कई प्रयास किए। लेिकन, दुर्भाग्य से इसमें काेई प्रगति नहीं हुई। हमें उम्मीद है कि राष्ट्रपति ट्रम्प इस प्रक्रिया काे अागे बढ़ा सकते हैं।

ट्रम्प : दाे सप्ताह पहले मैं प्रधानमंत्री माेदी के साथ था। उन्हाेंने मुझसे पूछा था कि क्या अाप इस मुद्दे पर मीडिएटर या अार्बिट्रेटर बनना पसंद करेंगे। मैंने पूछा कि कहां। उन्होंने कहा कश्मीर। यह मुद्दा लंबे समय से चला अा रहा है। मैंने कहा कि अगर मैं मदद कर सकता हूं ताे मुझे खुशी हाेगी। अगर अाप लाेग मुझे मध्यस्थ बनाना चाहेंगे ताे मैं तैयार हूं। 

इमरान : मैं अभी कह सकता हूं कि अगर अाप इस मसले काे सुलझाने में मध्यस्थता करते हैं ताे अापकाे कराेड़ाें लाेगाें की दुअाएं मिलेंगी। 

ट्रम्प : मुझे लगता है कि यह मुद्दा सुलझेगा। लेकिन, उनकी (मोदी) भी यही साेच हाेनी जरूरी है। इस बारे में मुझे उनसे भी बात करनी पड़ेगी। 

व्हाइट हाउस में प्रेस काॅन्फ्रेंस के दाैरान ट्रम्प के दावों को लेकर इमरान खान काफी खुश दिखे।

  अमेरिकी लोगों के लिए यह अहम मुद्दा 


 रिपोर्ट के मुताबिक- राष्ट्रपति ट्रम्प और अमेरिकी लोगों के लिए यह एक अहम मुद्दा है। पाकिस्तान को क्षेत्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए गलत तरीके से जेल में डाले गए डॉक्टर अफरीदी को रिहा करना चाहिए। यह एक अच्छा संदेश होगा।
Powered by Blogger.