Bike ka average kaise nikale best in hindi जुगाड़ टेक्नोलॉजी में हम भारतीयों का कोई मुकाबला नहीं किया जा सकता है. टैलेंट हमारे यहाँ गलियों में फिरता है. सही मौका मिल जाये तो हम दुनिया को अपनी असली ताकत का एहसास करा सकते हैं. फिर चाहे कोई भी फिल्ड या सेक्टर हो. सबसे आगे होंगे हिंदुस्तानी.

एक ऐसे ही करिश्मे की बात कर रहे हैं जहाँ एक भारतीय ने वो कर दिखाया जिसकी कोशिश में दुनिया भर के इंजीनियर अपना सर खाप रहे हैं लेकिन कामयाबी हासिल नहीं हो पा रही थी.एवरेज

उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी के अंतर्गत गुदड़ी नाम का गांव आता है. यहाँ के रहने वाले विवेक कुमार पटेल पिछले लंबे वक़्त से बाइक के एवरेज बढ़ाने की तकनीक ईजाद करने की कोशिश में लगे हुए थे. आखिर में उन्हें सफलता मिली. इन्होंने ऐसी तकनीक ढूंढ निकली है जिससे मोटरसाइकिल का एवरेज बढ़ जायेगा. विवेक कुमार के मुताबिक इनकी तकनीक से उस बाइक का एवरेज 150 किलामीटर प्रति लीटर हो जायेगा जो 50-60 का एवरेज देती है.
एवरेज
विवेक कुमार की  तकनीक की सबसे खास बात ये है की ये बेहद सस्ती डरो पर उपलब्ध है. विवेक कुमार के मुताबिक मोटर साइकिल में सिर्फ 500 रूपए का खर्च आएगा. दरअसल विवेक कार्बोरेटर में बदलाव करेंगे जिसके बाद तेलकी खपत को काम किया जा सकेगा. मीडिया रिपोर्ट्स का दावा है की विवेक कार्बोरेटर की सेटिंग से छेड़छाड़ करते है और इसी वजह से उन्हें सफलता भी मिली है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तरप्रदेश काउंसिल ने विवेक के जुगाड़ का इनोवशन को तकनीकी रूप से प्रमाणित करने के लिए मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट से इसकी टेस्टिंग कराई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जांच में तकनीक सही पाई गई।  

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..