अभी तक आप सबने ब्रेन स्ट्रोक के बारे में सुना होगा, लेकिन क्या आपको पता हे आँखों में भी स्ट्रोक आता हे. यह शायद बहुत ही कम लोग जानते हे. अगर यह स्ट्रोक आने पर ट्रीटमेंट में देरी की जाए तो आँखों की रौशनी जा सकती हे. आजकल दोनों स्ट्रोक 50 साल से कम उम्र के लोगों में आ रहे हे. इन दोनो स्ट्रोक में रिस्क फैक्टर एक जैसे हे. आईये जानते हे आई स्ट्रोक के बारे में. 
Eye Stroke Reason

कैसे पता करें की आई स्ट्रोक आया हे
अचानक से एक आँख में विजन कम महसूस हो रहा हे, आँख की एक रफ की रौशनी कम हो रही हे. एक तरफ यानी उपर या नीचे, दाएं या बाएं देखने पर उसे दिखाई नहीं दे रहा हे. यह आई स्ट्रोक की पहचान हे.

आई स्ट्रोक आने के कारण
आजकल यंगस्टर्स में ब्लड प्रेशर, हाईपर टेंशन, शुगर, कोलेस्ट्रोल आदि बढ़ रहा हे. इससे ब्लड में पाए जाने वाला होमोसिस्टन कैमिकल से ब्लड गाढ़ा हो जाता हे. यह यंगस्टर्स में आई स्ट्रोक आने के कारण हे.

कैसे इसकी जांच की जाती हे
वीईटी क्लीनिकली टेस्ट किया जाता हे. दिमाग और आँखों की MRI एक साथ करते हे. 

यह भी पढ़े अगर आप इस ड्रिंक का सेवन कर रहे हे तो हो जाईये सावधान

विटामीन B-12 की कमी से आता हे आई स्ट्रोक
आई स्ट्रोक के लिए विटामीन B-12 और फालिक एसिड इसके लिए जिम्मेदार हे. इसके अलावा ज्यादा स्मोकिंग भी इसके लिए जिम्मेदार हे. इससे बचने के लिए ज्यादा फूड्स खाएं और डाईट में अखरोट और सोयाबीन को शामिल करें.

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..