CID देखकर एक भाई ऐसे दिया खौफनाक घटना को अंजाम - Top.HowFN.com

CID देखकर एक भाई ऐसे दिया खौफनाक घटना को अंजाम

भारतीय धारावाहिक सीआईडी special Bureau is an Indian hindi drama serial  से प्रेरित एक लड़के को अपनी छोटी बहन को जान से मारने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है

CID देखकर एक भाई ने की अपनी ही छोटी बहन की हत्या, ऐसे दिया खौफनाक घटना को अंजाम!
लड़की ने अपने भाई को उसकी खराब लिखाई के लिए चिढ़ाया था। पंजाब प्रांत में लाहौर के शालीमार क्षेत्र में इमान तनवीर (नौ) 30 जून को अपनी दादी के घर में मृत पाई गई । उसकी हत्या गला घोंटकर की गई थी। खबर के मुताबिक शालीमार पुलिस ने बताया कि उन्होंने अब्दुल रहमान को चार दिन पहले उसकी छोटी बहन की कथित तौर पर हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया। घटना के सिलसिले में मामला दर्ज किया गया है।

  गर्दन में स्कार्फ लपेटकर घोंट दिया गला - इससे पहले पुलिस ने इमान की सौतेली मां सबा को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था, लेकिन बाद में छोड़ दिया। सिविल लाइन डिवीजन जांच विंग के पुलिस अधीक्षक हसनैन हैदर ने बताया कि नाबालिग लड़की की हत्या उसके बड़े भाई ने ईर्ष्या की वजह से कर दी। उन्होंने बताया कि बच्चे अपनी दादी के शालीमार स्थित घर में ईद मनाने आए हुए थे। हैदर ने बताया कि जांच के दौरान पता चला है कि भाई बहन ने आपस में इस बात का मुकाबला हुआ कि किसकी लिखाई ज्यादा अच्छी है। उस समय उनकी दादी घर में नहीं थीं। इत्तफाक से लड़की की लिखाई उसके भाई से ज्यादा अच्छी थी और वह इसके लिए भाई को चिढ़ाने लगी, जिससे गुस्से में आकर लड़के ने बहन की गर्दन में स्कार्फ लपेटकर कथित रूप से उसका गला घोंट दिया।

  अकसर देखता था भारतीय धारावाहिक सीआईडी - हैदर ने बताया कि बाद में लड़के ने अपराध पर पर्दा डालने के लिए अपनी कलाई की नस काट ली और भीतर से दरवाजा बंद कर लिया। बच्चों की दादी जब घर वापस लौटी तो उसने कमरे का दरवाजा भीतर से बंद देखकर पड़ोसियों को मदद के लिए बुलाया। लोगों ने दरवाजा तोड़ा तो कमरे में लड़की मृत मिली, जबकि लड़के की कलाई में जख्म था। लड़के ने पुलिस को बताया कि वह भारतीय धारावाहिक सीआईडी अकसर देखता था और उसने किसी की जान लेने का तरीका वहीं से सीखा था। सीआईडी भारत का एक प्रचलित जासूसी टेलिविजन धारावाहिक है, जिसमें विभिन्न अपराधों की जांच की जाती है।

0 Response to "CID देखकर एक भाई ऐसे दिया खौफनाक घटना को अंजाम "

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel