उम्र बढ़ने के साथ ही नाम याद रखने, कुछ नया सीखने या कोई चीज कहां रखी है याद रखने में समस्या आती है, लेकिन दोपहर में एक झपकी या हल्की नींद याददाश्त दुरूस्त करने में मददगार है। हाल ही में अमेरिका के जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए अध्ययन से यह पता चला है। इसी तरह का अध्ययन जर्नल ऑफ अमेरिकन गेरिएट्रिक्स सोसायटी में भी प्रकाशित हुआ जिसके मुताबिक दोपहर में एक घंटे सोने से बु़जुर्गों की याददाश्त में सुधार होता है।

सोने का सही तरीका How to increase improvement - कई लोग सोचते हैं कि दोपहर में कुछ समय सोने से उन्हें रात को नींद नहीं आती जबकि ऐसा इसलिए होता है यदि गलत तरीके से सोया जाए। फास्ट अस्लीप, वाइड वेक के लेखक और स्लीप एक्सपर्ट डॉ. नेरीना रामलखन के मुताबिक पावर नेप (दोपहर की हल्की नींद) का सबसे सही समय वह है जब नींद आना शुरू हो तभी सो जाएं या किसी काम को करने में मन नहीं लग रहा हो

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..