How to know baby boy or girl early signs- बैसे तो सरकार ने पेट में पल रहे बच्चे के लिंग की पहचान को कानूनी रूप से जुर्म माना हे क्योकि GOVT नहीं चाहती की सिर्फ लड़के ही लड़के पैदा हो या लड़की ही लड़की जिसके फलसरूप लिंग अनुपात में समस्या ना आये
तो चलिए बात करते ही कुछ ऐसी विधिया जो गर्भवस्था के दौरान पता लगा देती हे की गर्भ में क्या है बच्चे के लिंग को लेकर कुछ ज्यादा ही उत्साहित रहते हैं जो पहले पहली बार बच्चा पैदा कर रहे हे symptoms of baby boy in 4th month accurate तो नहीं फिर भी एक मेथर्ड जो सही हुई हे पद्धति की बात करें तो अक्सर गर्भवती महिला  के खानपान, उसके गर्भ के आकार और उसकी चाल को देखकर अनुमान पहले ही लगा लिया जाता है कि वह लड़के को जन्म देगी या लड़की को
  • पेट में लड़की होती है तो उल्‍टी होने का बिल्‍कुल भी एहसास नहीं होता
  • पर अगर पेट में लड़का है तो आप टप भर उल्‍टी करने के लिए तैयार हो जाइये
  • ऐसा कहा जाता है कि प्रेग्नेंट लेडीज अगर ज्यादा खट्टा खाती है तो वह लड़के को ही जन्म देती है
  • चहरे का गुलाबीपन खोने लगा है तो यह गर्भ में पल रहे लड़के की ही निशानी है
how to know boy or girl during pregnancy without ultrasound 
आजकल डॉक्टर गर्भ जाँच करते तो नहीं पर अगर डॉक्टर चाहे तो वह अल्ट्रासॉउन्ड से रिपोर्ट से बता सकता हे अगर पेट में लड़का है, तो गर्भावस्‍था के दौरान यह साफ पता चलता है। क्‍योंकि इसमें लड़की के मुकाबले पेट ज्‍यादा निकलता है। इसके अलावा शरीर पर कहीं भी चर्बी नहीं दिखेगी, पर पेट निकला होगा

आगे जरूर पड़े - जाने नमस्कार करने के फायदे व अर्थ Benefits Sun Salutation

how to know boy or girl during pregnancy at home-लड़की अगर पेट में हैं तो मीठा और लड़का लगर पेट में हैं तो खट्टा खाने का मन करता है। बच्‍चे का जिस तरह के पोषक तत्‍व की जरुरत होती है, मां को वही खाने का मन करने लगता है

am i having a boy or girl quiz - संबंधित लोगों में से बहुत से लोगों का कहना था कि अगर अनुमान और प्रमाण सही निकला तो आप इसे मात्र संयोग कह सकते है, कुछ ने इस पर पूर्ण विश्वास दिखाया और कुछ के लिए ये ‘जस्ट फॉर फन’ है

method accurate chinese calendar gender prediction in hindi
चीनी विधा को मान्यता चीनी कैलेंडर के अनुसार बच्चे के लिंग की जांच करने की विधा सबसे पुरानी विधाओं में से एक है चीनी लोग इसे पूरी तरह जांची-परखी विधा मानकर इस पर पूरा विश्वास करते हैं। एक अनुमान के अनुसार करीब 700 साल पहले बीजिंग में इस विधा का उद्भव हुआ था। हालांकि बहुत से लोग इस कैलेंडर की सत्यता पर संदेह रखते हैं,

यह बात बिल्कुल ध्यान रखे - यह जानकारी कोई ISO प्रमाडित नहीं सो कोई भी इसके आधार पर गर्भ में पल रहे बच्चे का लिंग जानने की कोशिश ना करें उक्त जानकारी केवल हमारे रीती रिवाजो और मान्यताओं को आप तक पहुंचाने की कोशिश भर है  how to find baby boy or girl in scan report symptoms of having a girl signs of having a boy at 8 weeks

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..