नमस्कार करने के फायदे व अर्थ namaskar meaning Benefits Sun Salutation - Top.HowFN.com

नमस्कार करने के फायदे व अर्थ namaskar meaning Benefits Sun Salutation

namaskar meaning in hindi, namaskar meaning in english, namaskar meaning in urdu, namaskara meaning, namaste significance, namaskar meaning in telugu, namaskar meaning in marathi, namaskar meaning in bengali
नमस्कार Pranaam : करना यह एक ऐसी पद्धति है जिसमें एक मनोवैज्ञानिक दबाव होता है। नमस्ते या नमस्कार मुख्यतः हिन्दुओं और भारतीयों द्वारा एक दूसरे से मिलने पर अभिवादन और विनम्रता प्रदर्शित करने हेतु प्रयुक्त शब्द है। इस भाव का अर्थ है की सभी मनुष्यों के हृदय में एक दैवीय चेतना और प्रकाश है जो अनाहत चक्र (हृदय चक्र) में स्थित है। यह शब्द संस्कृत के नमस शब्द से निकला है। इस प्रकार प्रणाम करने से सामने वाला व्यक्ति अपने आप ही विनम्र हो जाता है। किसी को प्रणाम करने के फलस्वरूप आशीर्वाद की प्राप्ति होती है और उसका आध्यामिक विकास होता है।
भारत में हाथ जोड़ कर प्रणाम करने की प्रचलित पद्धति एक मनोवैज्ञानिक पद्धति है। हाथ जोड़कर आप जोर से बोल नहीं सकते, अधिक क्रोध नहीं कर सकते और भाग नहीं सकते।
आध्यात्मिक रहस्य :
दाहिना हाथ आचार अर्थात धर्म और बायां हाथ विचार अर्थात दर्शन का होता है। नमस्कार करते समय दायां हाथ बाएं हाथ से जुड़ता है। शरीर में दाईं ओर ईड़ा और बांईं ओर पिंगला नाड़ी होती है तथा मस्तिष्क पर त्रिकुटि के स्थान पर सुष्मना का होना पाया जाता है। अत: नमस्कार करते समय ईड़ा, पिंगला के पास पहुंचती है तथा सिर श्रृद्धा से झुका हुआ होता है।(यहाँ क्लिक कर ये उंगली बताती है जीवन में आप क्या बन सकते हो Palm Reading)

हाथ जोड़ने से शरीर के रक्त संचार में प्रवाह आता है। मनुष्य के आधे शरीर में सकारात्मक आयन और आधे में नकारात्मक आयन विद्यमान होते हैं। हाथ जोड़ने पर दोनों आयनों केमिलने से ऊर्जा का प्रवाह होता ह जिससे शरीर में सकारात्मकता का समावेश होता है।

0 Response to "नमस्कार करने के फायदे व अर्थ namaskar meaning Benefits Sun Salutation"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel