सरकार ने Mygov साईट पर दिए तीखे सवालों के सीधे जवाब - Top.HowFN.com

सरकार ने Mygov साईट पर दिए तीखे सवालों के सीधे जवाब

काले धन को रोकने के लिए 500-1000 के नोट बंद किये गए थे. इसके साथ ही अफवाहों ने भी अपने पैर पसार लिए. खुद लोगों के सालों का जवाब देने के लिए सरकार आगे आई हे. 18 नवम्बर को Mygov कि साईट पर ऐसे ही सवालों के जवाब देते हुए अफवाहों को दूर किया गया. आज की इस पोस्ट में, में कुछ ऐसे ही मिथक और उनकी सच्चाई के बारे में बात करेंगे जिसे सरकार ने दूर किया.
Govt Clean Questions And Myths

मिथ 1. अपने अगले प्लान के तहत प्रधानमन्त्री 100 के नोट बंद करेंगे.
सच्चाई : फिलहाल भविष्य में सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं हे और ना ही इसके लिए कोई नोटिस जारी किया गया हे.

मिथ 2. कुछ उधोगपतियों और नेताओं को नोट बंद होने की जानकारी थी.
सच्चाई : इस मामले में पूरी गोपनीयता से काम लिया गया हे. जिसमे किसी भी तरह की कोई जानकारी बाहर जाने का सवाल ही नहीं उठता.

मिथ 3. नए नोटों के बारे में कहा जा रहा हे की उसमे माइक्रो चिप हे.
सच्चाई : सरकार ने इस तरह के नोट का निर्माण नहीं किया हे, लेकिन जिसने भी यह अफवाह फैलाई हे वो बहुत ही क्रिएटिव हे.

मिथ 4. 500-1000 के नोट बंद करने का कोई फायदा नहीं हे, क्योंकि काले धन के मालिकों ने इसे सफ़ेद करने के कई उपाय निकल लिए हे.
सच्चाई : इस के लिए सरकारी एजेंसी लोगों पर नजर रखे हुए हे. किसी भी तरह की हेराफेरी पर बेनामी ट्रांजेक्शन के तहत कार्यवाई की जाएगी. 

यह भी पढ़े दुनिया में 8 खुबसूरत बातें

मिथ 5. 2000 रूपये के नोट की पेपर क्वालिटी अच्छी नहीं हे, इसका रंग अभी से छुटने लगा हे.
सच्चाई : नए नोटों में एक सिक्योरिटी फीचर हे जिसे Intaglio कहते हे. इसी वजह से कपड़ो के सम्पर्क में आने से इलेक्ट्रिक इफ़ेक्ट पैदा करते हे और कपड़ो पर इंक छोड़ते हे.]

मिथ 6. खुद के पैसों को निकालने के लिए लोगों को हाथों पर इंक लगनी पड़ रही हे.
सच्चाई : इस इंक का इस्तेमाल उन लोगों के लिए किया जा रहा हे जो नोटों को बदलवा रहे हे.

2 Responses check and comments

  1. आदित्य जी जो आप पोस्ट में एड दिखा रहे हैं यह क्या adnow के ऐड हैं की किसी दुसरे ऐड नेटवर्क के ऐड हैं?

    ReplyDelete
  2. Nahi adnow ke ads nahi dost aap se kuch baat karni the kya aap email - indiamobileno@gmail.com , par apka no bhejo

    ReplyDelete

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel