अक्सर यह शिकायत सुनी जाती हे की हम तो लोगों को पहचान ही नहीं पाते. जिसे अच्छा समझा, वह बुरा निकला और जिसे बुरा समझा वो अच्छा निकला. इसके कई कारण हो सकते आईये जानते हे. 


Mistake For Recognise People

1. हम दूर से ही देखकर किसी की छवि बना लेते हे, फिर उसके उसी व्यवहार पर ध्यान देते हे, जो उस छवि को पुष्टि करता हे. इस तरह उस व्यक्ति के बारे में हमारी धारणा पक्की होती रहती हे, हालांकि उसका आधार आधा-अधुरा ही होता हे.

2. कुछ चेहरे या नाम हमे पूर्व परिचित किसी व्यक्ति की याद दिलाते हे और हम अनजाने में दोनों को एक जैसा मान लेते हे. जैसे आपके अच्छे दोस्त का नाम अनिल हे, तो इस नाम के अन्य व्यक्ति को भी आप अच्छी नजर से देखेंगे. यह भी पढ़े चेहरे की चमक बढाने के उपाय

3. कोई शख्स किसी खास क्षण में जैसा दीखता हे, हम उसे उसका पूरा व्यक्तित्व मान लेते हे. जैसे इंटरव्यू में कोई हडबडा रहे हे, तो हम उसे अयोग्य मान लेते हे, हालाँकि सम्भव हे की वो काम के लिहाज से योग्य हो.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..