Exchange Notes नोटबंदी के खिलाफ अपोजिशन पार्टियां एकजुट हो गई हैं। दिल्ली में टीएमसी-आप समेत कई पार्टियां मार्च निकाल रही हैं। ममता बनर्जी की अगुआई में ये डेलिगेशन प्रेसिडेंट से मिलेगा। हालांकि, लेफ्ट और कांग्रेस ने इस मार्च से दूरी रखी। प्रेसिडेंट से मिलने के बाद ममता ने कहा, ''पहले एटीएम का मतलब होता था- All time Money अब इसका मतलब हो गया है- आएगा तब मिलेगा।'' ममता के मार्च में कौन-कौन शामिल हुआ...
  • - बुधवार को बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की अगुआई में मार्च निकाला गया।
  • - बीजेपी को सबसे बड़ा झटका उस वक्त लगा, जब महाराष्ट्र से उसकी सहयोगी पार्टी शिवसेना के सांसद भी इसमें शामिल हुए।
  • - नेशनल कॉन्फ्रेंस लीडर उमर अब्दुल्ला भी इस मार्च में शामिल थे।
  • - दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल मार्च में नजर नहीं आए, लेकिन आप सांसद भगवंत मान दिखे।
प्रेसिडेंट से मिलने के बाद ममता ने क्या कहा?
- बंगाल की सीएम ने कहा, ''हमने राष्ट्रपति से बात की। कहा कि सरकार से बात करें। इस फैसले को वापस लिया जाए।''
- ''देश की आम जनता इस फैसले से परेशान है।''
- "राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पहले देश के फाइनेंस मिनिस्टर रह चुके हैं। वे देश की हालत को किसी और से बेहतर समझ सकते हैं। वे इस पर एक्शन लेंगे।"

राहुल ने कहा- आपका पैसा जेब से निकालकर कारोबारियों को देंगे मोदी
- बुधवार को राहुल गांधी ने भिवंडी में कहा, ''नोटबंदी के फैसले से आम जनता परेशान है। क्या आपको कोई अमीर शख्स लाइन में दिखा?''

- ''आपको लाइन में लगाया जा रहा है और 15-20 उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया जा रहा है। मोदी की सरकार सिर्फ 15 लोग चला रहे हैं। ये आपका पैसा लेकर उनका कर्ज माफ कर देंगे।''

आपकी क्या राय हे कमेंट्स करे नीचे जरूर

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..