शास्त्रों में मंदिर जाने के कुछ नियम बताये गए हे - Top.HowFN.com

शास्त्रों में मंदिर जाने के कुछ नियम बताये गए हे

मन्दिर जाना भारतीय परम्परा का एक हिस्सा हे, जो हमरी श्रदा और आस्था का प्रतीक हे. लेकिन सनातन धर्म में मंदिर जाने के कुछ नियम बताये गए हे, क्या आप उन नियमों का पालन करते हे, आईये जानते हे कोनसे हे वो नियम.


Temple’S Rules

1. मन्दिर जाने से पहले घर पर भगवान का स्मरण करना की भगवान में आपके दर्शन के लिए आ रहा हु, कृपया मेरा मार्गदर्शन करना.

2. मन्दिर पहुँचने के बाद भगवान का आभार व्यक्त करना की उन्होंने हमें अपनी शरण में आने का मोका दिया.

3. मन्दिर में जाने से पहले चमड़े की किसी चीज को साथ ना ले जाये. अगर पहन रखा हे तो उसे भी उतार दे.

4. मन्दिर में कभी भी जूते या चप्पल पहन कर ना जाएँ.

5. मन्दिर में जाने से पहले हाथ-पैर अच्छे से धो ले.

यह भी पढ़े पेट की चर्बी घटानी हे तो करें भुजंगासन

6. मंदिर में कभी भी अपनी गर्दन को ढक कर नहीं जाना चाहिए.

7. मंदिर की सीढ़िया चढ़ते समय दाहिने हाथ से छु कर माथे पर लगाना चाहिए.

8. भगवान की मूर्ति के सामने आते ही अपने दोनों हाथों को नमस्कार की तरह जोड़ लेना चाहिए.

9. इस समय यह स्मरण करना चाहिए की हमारा भगवान हमारी और देख रहा हे.

10. शिव मन्दिर में जाने से पहले शिवलिंग के दर्शन से पहले नंदी के दर्शन करने चाहिए.

11. प्रतिमा के सामने खड़े होकर प्राथना नहीं करनी चाहिए, हो सके तो एक तरफ साइड में खड़े होकर प्राथना करनी चाहिए.

12. चरणामृत और प्रसाद को हमेशा दायें हाथ से लेना चाहिए.

13. बाहर निकलते समय अपनी पीठ को भगवान के सामने नहीं रखना चाहिए.

0 Response to "शास्त्रों में मंदिर जाने के कुछ नियम बताये गए हे "

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel