रक्तदान करते समय रखें यह सावधानी और जाने इसके लाभ..Raktdaan Tips in Hindi - Top.HowFN.com

रक्तदान करते समय रखें यह सावधानी और जाने इसके लाभ..Raktdaan Tips in Hindi

रक्तदान करना एक हानिरहित प्रक्रिया है जिसमे न तो कोई दर्द होता है और न ही किसी प्रकार की कमजोरी आती है. रक्तदान में मात्र 4 या 5 मिनट का समय लगता है. आधे घण्टे के विश्राम के बाद सामान्य दिनचर्या को जारी रखा जा सकता हे.

रक्त का निर्माण
आमतौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 4 से 5 लीटर रक्त होता है. रक्तदान में एक बार में 250-350 मिलीलीटर ही रक्त लिया जाता है. जो शरीर में उपलब्ध रक्त का लगभग 15 वाँ भाग होता है. आगे पड़े जानिये क्यों इतने महंगे होते हे एप्पल

रक्तदान में सावधानी
रक्तदान करने वाले व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष से कम और 50 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए. वजन 45 किलो से कम नही होना चाहिए. उसे क्षय रोग (टी.वी.) मलेरिया, सिफलिस, गोनेरिया, एड्स, दमा और अन्य संक्रामक रोगों से पूर्णतया मुक्त होना चाहिए. एक बार रक्तदान करने के बाद तीन माह बाद ही दूसरा बार रक्तदान करने चाहिए. रक्तदान के बाद चाय, कॉफी, फलो का जूस, दूध, अण्डा सेवन कर कुछ समय आराम करना चाहिए.

रक्तदान के लाभ
अमरीकी शोधकर्ताओं के मतानुसार रक्तदान करने से रक्तदान न करने वालो की अपेक्षा दिल के दौरे की आशंका कम हो जाती है. डॉ. डेविस मेयस का भी यही मत है स्वस्थ व्यक्ति द्वारा रक्तदान करने पर कोई नुकसान नही होता, अपितु शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए मस्तिष्क 'रक्त' उत्पादक अंगों को और अधिक सक्रिय कर देता है जिससे इन अंगों की क्रियाशीलता बढ़ जाती है और ये स्वस्थ बने रहते हैं. अतः स्वस्थ व्यक्ति को रक्तदान करने चाहिए.

0 Response to "रक्तदान करते समय रखें यह सावधानी और जाने इसके लाभ..Raktdaan Tips in Hindi"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel