नसबंदी कराने से पुरुष की पौरुष शक्ति कम होती है इसकी सच्चाई - Top.HowFN.com

नसबंदी कराने से पुरुष की पौरुष शक्ति कम होती है इसकी सच्चाई

पुरुष की काम शक्ति पर नसबंदी का दूष्प्रभाव नही पड़ता क्योकि इस ऑपरेशन में पुरुष की काम ग्रन्थियों को छेड़ा ही नही जाता. इसलिए न तो पुरुष की काम वासना कम होती है और न संभोग की शक्ति में कमी आती है. स्त्री को संतुष्ट करने में भी कोई कसर नही रहती और न ही यौन तृप्ति में किसी भी प्रकार का अंतर पड़ता है.
नसबंदी के बाद वीर्य तो निकलना है लेकिन शुक्राणु नही
नसबंदी में शुक्राणुवाहिनी नलिकाओं को बाँध देने से शुक्राणु शरीर के बाहर नही जा पाते हैं ये शरीर में ही घुलकर रह जाते हैं. इस प्रकार शरीर के स्वस्थ्य रहने में भी सहायक होते है. अमेरिका के अनुसन्धानकर्त्ताओ का कहना है कि नसबंदी कराये हुए व्यक्तियों का स्वास्थ्य सामान्य व्यक्तियों की अपेक्षा अधिक अच्छा होता है और वे अधिक दिन तक जीवित रहते हैं.

सेक्स का आनन्द बढ़ जाता है
loading...
सेक्स विशेषज्ञो का मत है कि नसबंदी कराने से किसी प्रकार की नपुंसकता या नामर्दी नही आती बल्कि इससे शीघ्र पतन की शिकायत भी दूर हो जाती है. शीशन में पहले की अपेक्षा अधिक तनाव और सुदृढ़ता आने लगती है. यौन शक्ति बढ़ जाने से संभोग की इच्छा बढ़ जाती है. सन्तानोत्तति का खतरा समाप्त हो जाता है जिसके कारण पति-पत्नी में प्रेम अधिक बढ़ जाता है और वह एक-दूसरे के अधिक निकट आ जाते हैं.

2 Responses check and comments

  1. इसे करवाने का कोई खास मौसम भी होता है क्या

    ReplyDelete
  2. Thanks for sharing very useful post. Male poor sexual performance is a source of embarrassment and concern. Natural male enhancement provides longer sexual performance and please for both you and your partner.

    ReplyDelete

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel