आपने फेसबुक के मालिक का नाम तो सुना ही होगा, जिसने बहुत कम age में Facebook जेसी सबसे लोकप्रिय Social Site को इस दुनिया के सामने लाया. लेकिन हाल ही में उनके एक कर्मचारी जिसे Mark Zuckerberg ने 2 साल पहले नोकरी से निकाल दिया था, उसने Mark Zuckerberg के बारे में कुछ ऐसी बाते बताई हे जिस पर विश्वास करना भी मुश्किल हे.
Facebook से निकाले गए एक कर्मचारी ने कम्पनी के वर्क कल्चर से जुड़े कई चोंकाने वाले खुलासे किये हे. Facebook में Advertising Manager रहे ऐनटोनियो ग्रेशिया मार्टिनेज को 2 साल पहले Mark Zuckerberg ने निकाल दिया था. इसके बाद मार्टिनेज ने एक किताब लिखी, जिसमे उसने कई चोंकाने वाले खुलासे किये हे. उनके मुताबिक फेसबुक में नोकरी करना नार्थ कोरिया में काम करने जैसा हे. Mark Jukarbarg ने तो इसके बारे में अभी कुछ नहीं कहा हे, लेकिन कुछ लोगो ने इसे मार्टिनेज की खीज करार दिया हे. ऐसा लगता हे जैसे नोकरी से निकाले जाने का सदमा अभी तक उन्हें सहन नहीं हुआ, इसलिए वो ऐसा कह रहे हे.

मार्टिनेज के अनुसार फेसबुक कम्पनी में Mark Zuckerberg की तानाशाही चलती हे. जब कोई नया कर्मचारी कम्पनी ज्वाइन करता हे तो उसे ‘फेसवर्सरी’ कहा जाता हे और उसके लिए क्रिसमिस की तरह जश्न मनाया जाता हे. लेकिन जब कोई कम्पनी छोड़ता हे तो उसे ‘डेथ’ कहा जाता हे और उसका id card तहस-नहस करके फोटो अपलोड कर दिया जाता हे. महिला स्टाफ को सबसे ज्यादा तंग किया जाता हे. उन्हें ड्रेस कोड में रहना पड़ता हे ताकि लड़को का ध्यान लड़कियों पर ना जाये. वो उन्हें शोर्ट स्कर्ट नहीं पहनने देते हे. हर कर्मचारी पे नजर रखने के लिए ख़ुफ़िया एजेंसी के तोर-तरीको का प्रयोग किया जाता हे. Mark Zuckerberg आप खोने में माहिर हे, उन्हें गुस्सा आता हे तो वे कर्मचारियों को गलियाँ देने लगते हे. वे अपने स्टाफ को कुछ भी काम करने को कह देते हे. यंहा तक की दीवारों पे पेंट करना, टेबल साफ करना आदि.
अब यह तो नहीं पता की यह सब कितना सच हे, लेकिन मार्टिनेज ने अपनी Book “चाओस मंकी: ओब्सेन मंकी फ्राच्युन एंड रेडम फेल्योर इन सिलिकोन वैली” में यह सब लिखा हे. एक बार तो हमें यकीन भी नहीं होता की इतनी बड़ी कम्पनी का मालिक ऐसा भी कर सकता हे. अगर यह सब सच हे तो बहुत ही भयानक बात हे.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..