कई लोग ऐसे हैं जिन्हे सादा पानी अच्छा नही लगता हैं, उन्हे बर्फ वाला पानी ज़्यादा satisfy करता हैं. क्या आपको पता हैं बर्फ (burf/Ice) वाला पानी पीने के नुकसान भी होते हैं. effect of chilled water on the body अगर बात शारीरिक तापमान की करे तो हमे 20 से 22 डिग्री सेल्सीयस टेंपरेचर वाला पानी ही पीना चाहिए, इससे ज़्यादा गर्म और इससे ज़्यादा ठंडा पानी सेहत पर बुरा असर करता हैं. बहुत कम लोगो को पता हैं की पानी जितना ठंडा होता हैं, उसे पाचाने में उतना ही ज़्यादा वक़्त लगता हैं. इस तरह बहुत ठंडा पानी हेल्त पर बुरा एफेक्ट डाल सकता हैं तो बात करेंगे baraf ke pani peene se hote hain yeh nuksaan.

बर्फीला पानी पीने के नुकसान disadvantages of taking cold water:- 

1. इम्यून सिस्टम पर असर पड़ता हैं :-
हर बार ज़्यादा ठंडा और बर्फ वाला पानी पीने से बॉडी की इम्यून सिस्टम पर बुरा असर पड़ता हैं, जिसकी वजह से ऐसा पानी पीने वालो को हमेशा ही सर्दी-जुकाम का सामना करना पड़ता हैं.

2. धमनियो पर असर :- बर्फ वाला पानी पीने से धमनियो पर असर पड़ता हैं और वह सिकूड जाती हैं, जो किसी भी सिचुयेशन में ठीक नही हैं.

3. आँत और बवासीर की प्राब्लम :- बहुत ज़्यादा ठंड से चीज़े जाम जाती हैं और हमारा शरीर भी इस प्रक्रिया से अलग नही हैं. बहुत ज़्यादा ठंडा पानी पीने से पॉटी (माल) सख़्त होता हैं, जिससे बवासीर या फिर आँतो में घाव की प्राब्लम हो सकती हैं.

4. पाचन से रिलेटेड प्रॉब्लम्स :- ठंडा पानी पचने में अधिक वक़्त लेता हैं, जिसके नतीज़न ऐसा पानी पीने के बाद भूख लगने की नॅचुरल प्रोसेस प्रभावित होती हैं.

5. बॉडी की एनर्जी का बेकार जाना :- बहुत ज़्यादा ठंडा पानी पीने से उसे पाचाने में ज़्यादा टाइम लगता हैं. पानी के पाचन से पहले शरीर की अंद्रूणी प्रोसेस उस पानी को बॉडी के टेंपरेचर के बराबर लाती हैं और फिर उसके बाद उसका पाचन होता हैं. इससे पोषण मिलने में काफ़ी वक़्त लग जाता हैं.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..