khoon ki kami ka ilaj vitamin se urdu alamat rohani ilaj lakshan nuskhe english blood blood ki kami se hone wali bimari
  1. पीरियड्स के दौरान रक्त स्त्राव ज्यादा होने से कई बार महिलाओं को एनीमिया की शिकायत होती है। आइबुप्रोफेन वाली दवाईयों के कारण भी एनीमिया हो सकता है। लंबे समय तक ऐसी दवाईयों का सेवन करते हैं, तो पेट की सतह कमजोर हो जाती है। जिसकी वजह से खाने से आयरन का अवशोषण करने में वो असफल होती है। इससे एनीमिया होनी की समस्या हो सकती है। 
  2. सबसे प्रचलित कारण है असंतुलित आहार। अगर हमारे आहार में आयरन या बी-12 की कमी है, तो हमें एनीमिया हो सकता है। 
  3. किसी भी बीमारी का अगर लंबे समय तक सामना करते हैं तो खून की कमी महसूस होगी। जैसे: ब्रोंकायटिस, मलेरिया और गैस्ट्रोआइंट्रायटिस। 
  4. पेट के अल्सर जो आमतौर पर एसिडिटी की वजह से होते हैं, खून की कमी का कारण बन सकते हैं
ये बचाव -
  • डॉक्टर की सलाह के बिना कभी ज्यादा पेनकिलर न लें। ज्यादा आइबुप्रोफेन और एस्पिरीन के सेवन के कारण शरीर में खून कम हो जाता है। 
  • अगर आप डिप्रेशन का शिकार हैं तो खून की जांच कराएं। बी-12 की कमी की वजह से डिप्रेशन हो सकता है और बी-12 कम होने की वजह से शरीर में आयरन की कमी भी हो सकती है। 
  • अगर अपनी यूरिन या स्टूल का रंग गहरा पाएं तो तुरंत जांच करवाएं। पेट में ब्लिडिंग अल्सर या किडनी में इंफेक्शन की वजह से अगर खून जा रहा है, तो आप जल्द ही एनीमिया का शिकार हो सकते हैं। 
  • अगर एसिडिटी से परेशान हैं, तो डॉक्टर की सलाह तुरंत लें। ऐसे में लापरवाही न बरतें। एसिडिटी की वजह पेट की अंदरूनी परत खराब हो सकती है। जिसकी वजह से खाने से आयरन और बी-12 का शरीर में अवशोषण कम हो सकता है
खून की कमी को बायोलॉजी में एनीमिया कहा जाता है इसके निम्न प्रकार होते है - 

सिकल सेल एनीमिया : जन्म से व्यक्ति में ऐसी एक जीन होती है जिसकी वजह से रेड ब्लड सेल गोल के बजाय चंद्राकार रूप में हो जाती हैं। ऐसे में नियमित रूप से खून की जांच करना और इलाज के लिए दवाईयां लेते रहना बहुत जरूरी है।
थैलीसिमिया : खराब जीन की वजह से शरीर जब पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं बना पाता, तब शरीर में खून की कमी हो जाती है। उसे थैलीसिमिया कहते हैं। यह बीमारी कई बार 50 के बाद ही पता चलती है। हालांकि बच्चों में भी इसके लक्षण पाए जाते हैं।
कोनजेनिटल पेरिनिशियस एनीमिया : जब किसी व्यक्ति का शरीर एक प्रोटीन तैयार नहीं कर पाता, जिससे बी-12 विटामिन का शरीर में शोषण हो, तब उसमें बी-12 की कमी के कारण खून तैयार नहीं हो पाता। यह बीमारी बहुत ही कम देखने को मिलती है। यहाँ क्लिक कर हीमोग्लोबिन बढाने के उपाय << READ
हेरिडेटरी स्फीरोसायटोसिस : ये मां से बच्चे में आ सकता है। कुछ RBC खून की लाल पेशियां ज्यादा नाजुक और बड़ी होने के कारण स्पलीन से शरीर के अंगों में नहीं पहंुच सकती और वहीं मर जाती हैं। इसकी वजह से शरीर में खून की कमी हो जाती है।

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..