नींद ना आना रोगो की जड़ कारण (अनिद्रा) insomnia hindi Treatment - Top.HowFN

नींद ना आना रोगो की जड़ कारण (अनिद्रा) insomnia hindi Treatment


एक अध्ययन से पता लगा है कि जितना ज़्यादा समय किशोर इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों जैसे टैबलेट और स्मार्टफ़ोन इस्तेमाल करने में बिताते हैं, उनकी नींद को उतना ही नुक़सान पहुंचता है।

ये अध्ययन 16 से 19 साल के लगभग 10,000 युवाओं पर किए गया।

स्कूल से लौटने के बाद इन उपकरणों के साथ दो घंटे से ज़्यादा समय बिताना नींद नहीं आने या कम नींद आने की वजह बन सकता है।

नॉर्वे के लगभग सभी किशोरों का कहना था कि वह सोने से ठीक पहले इन उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं।

ज़्यादातर किशोरों की शिकायत थी कि उन्हें पांच घंटे से भी कम नींद आती है।

जब किशोरों से पूछा गया कि वह कितना समय इन उपकरणों का इस्तेमाल करने में गुज़ारते हैं तो सामने आया कि अधिकतर लड़कियां साढ़े पांच घंटे टीवी देखने, कंप्यूटर या स्मार्टफ़ोन का इस्तेमाल करने में बिताती हैं, जबकि लड़के उनसे थोड़ा ज़्यादा समय यानी छह से सात घंटे इन उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं।

लड़कों में ज़्यादा लोकप्रिय कम्यूटर गेम्स हैं तो लड़कियां ज़्यादा वक़्त चैटिंग करती हैं।

जितना ज़्यादा समय किशोर गैजेट्स के इस्तेमाल में बिताते हैं, उनकी नींद में उतना ही ज़्यादा खलल पड़ता है।

Image result for sahi neend ke liyeअनिद्रा होने पर लोगो में  कई स्वास्थ्य से सम्बंधित समस्याए होने लगती है | जैसे –
  1. वजन का बढ़ना (waight gain) – अनिद्रा के कारण एक और बड़ी समस्या वजन का बढ़ना भी है |
  2. High blood pressure ऊँच राक्त चाप  – अनिद्रा का शिकार व्यक्ति में ऊँच रक्त चाप ( high blood pressure) होने की संभावना काफी बढ़ जाती है |
  3. तनाव (depression) – अक्सर यह देखा जाता है जिस व्यक्ति को अनिद्रा जैसी समस्या रहती है वह व्यक्ति हमेशा तनाव में रहता है |
  4. सिर दर्द (head pain) – अनिद्रा से पीड़ित व्यक्ति का नींद न पूरा होने के कारण हमेशा सिर में दर्द बना रहता है |
  5. शरीर में दर्द (body pain) – अनिद्रा के कारण शरीर को सम्पूर्ण आराम नहीं मिल पाता है | जिसके कारण शरीर दर्द जैसी समस्या बनी रहती है |
  6. लगातार अनिद्रा से शिकार व्यक्ति की कार्य करने की क्षमता कम हो जाती है |
Powered by Blogger.