सिरदर्द का उपचार कारण, लक्षण एवं निदान दवा प्रकार headache hindi - Top.HowFN

सिरदर्द का उपचार कारण, लक्षण एवं निदान दवा प्रकार headache hindi


हमें अपने शरीर को तंदरूस्त रखने के लिए अपनी दिनचर्या में शरीर को भी कुछ देर विश्राम देना चाहिए। लगातार काम करने से हमारे शरीर में थकावट होने के साथ सिरदर्द होना शुरू हो जाता है।




कभी-कभी तो यें दर्द इतना बढ़ जाता है,कि बर्दाशत करना मुश्किल हो जाता है।सिरदर्द से राहत पाने के लिए हम पेनकिलर खा लेते है पर हर बार पेनकिलर का प्रयोग करना हमारी सेहत के लिए हानिकारक भी हो सकता है। हम घर पर पड़े कुछ तेलों का प्रयोग करके राहत पा सकते है।

- नारियल तेल से सिर पर मसाज करने से सिर दर्द से राहत पाई जा सकती है।नारियल तेल को हल्का सा गुनगुना करके सिर पर लगाने से सिरदर्द होने पर आराम मिलता है।

-सरसों का तेल हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ हमारी त्वचा को भी खूबसूरत बनाने में मदद करता है। सरसोें के तेल से सिर पर मसाज करने से सिरदर्द से राहत पाई जा सकती है।

- नीलगिरी जिसे हम यूकेलिप्‍टस के नाम से भी जानते है। इसकी ताजा पत्तियों को तोड़कर इससे तेल बनाया जाता है जो भिन्न-भिन्न रोगों के उपचार में काम आता है। औषधीय गुणों से भरपूर यें तेल हर दर्द से राहत दिलवा सकता है। यें तेल हमारी सेहत के साथ-साथ हमारी सुंदरता को बढ़ाने में भी मदद करता है।यूकेलिप्टस तेल से मालिश करने से सिरदर्द से राहत पाई जा सकती है।

- पुदीने की खुशबू ही इतनी बढ़िया होती है कि इसे सूंघने से ही सिरदर्द कम होना शुरू हो जाता है। पुदीने के तेल की कुछ बूंदों को अपने रूमाल पर डालकर सूंघने से सिरदर्द से राहत पाई जा सकती है।

- लैवेंडर तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और दर्द दूर करनेवाले गुण पाएं जाते हैं। पूरे दिन की थकान के कारण शाम के समय होने वाले सिरदर्द से राहत पाने के लिए लैवेंडर तेल से सिर पर मसाज करने से राहत पाई जा सकती है।

- बादाम का तेल सिरदर्द से राहत दिलवाने में मददगार साबित हुआ है। सिरदर्द होने पर बादाम के तेल से मसाज करने से सिरदर्द से राहत पाई जा सकती है।

सिरदर्द को अधिकतर लोग साधारण मानकर गंभीरता से नहीं लेते और सिरदर्द की गोली लेकर सोचते हैं कि उन्हें इससे छुटकारा मिल गया। ये दवाईयाँ दर्द तो समाप्त कर देती हैं, परंतु सिरदर्द के कारणों को नहीं समाप्त करतीं, इसलिए सिरदर्द के कारण को जानकर उस कारण को समाप्त करना बहुत जरूरी है।

सिरदर्द कई प्रकार के होते हैं जैसे- अधिक देर तक सोते रहने या कम समय सोने से, नींद पूरी न होने के कारण भी सिरदर्द हो सकता है। कभी-कभी नींद के बीच-बीच में टूटने के कारण भी सिरदर्द होता है।

* कभी-कभी गर्मी में अधिक व्यायाम कर लेने से भी सिरदर्द शुरू हो जाता है, क्योंकि व्यायाम करते वक्त ग्लूकोज की मात्रा मांसपेशियों द्वारा खर्च कर ली जाती है और मस्तिष्क को ग्लूकोज नहीं मिल पाता।

* दाँतों में दर्द के कारण भी सिरदर्द की शिकायत रहती है। दाँतों में कीड़ा लगने, अक्ल दाढ़ आने आदि से पूरे जबड़े में दर्द रहता है।

* तनाव का पहला लक्षण ही सिरदर्द है। इसके अतिरिक्त निराशा, नींद न आना, थका हुआ महसूस करना आदि भी तनाव के कारण होते हैं। आँखों के चश्मे के नंबर में बदलाव के कारण भी सिरदर्द होता है। जिन लोगों को आँखों का चश्मा न लगा हो और उन्हें सिरदर्द की शिकायत लगातार हो रही हो उन्हें नेत्र विशेषज्ञ के पास जाकर आँखों को दिखाना चाहिए व नजर कमजोर होने पर चश्मा लगाना चाहिए।

* कभी-कभी कुछ दवाईयाँ भी सिरदर्द का कारण होती हैं जैसे ह्दय रोगों में ली जाने वाली दवाईयाँ व उच्च रक्तचाप होने पर ली जाने वाली दवाईयाँ।

* माइग्रेन ऐसा सिरदर्द है जो अधिकतर आनुवंशिक होता है। इसमें दर्द सिर के आधे हिस्से में होता है। इसका कारण किसी भोज्य पदार्थ से एलर्जी भी हो सकता है।

* अधिक जुकाम, मौसम में बदलाव, अधिक धूम्रपान आदि के कारण भी सिरदर्द की शिकायत रहती है।

* पूरा दिन किसी बंद कमरे में बिताने से शरीर को शुद्ध वायु नहीं मिल पाती। इस कारण से भी सिरदर्द हो सकता है।
सिरदर्द कई प्रकार के होते हैं जैसे- अधिक देर तक सोते रहने या कम समय सोने से, नींद पूरी न होने के कारण भी सिरदर्द हो सकता है। कभी-कभी नींद के बीच-बीच में टूटने के कारण भी सिरदर्द होता है

* आज के कम्प्यूटर युग में जहाँ बच्चे से लेकर वृद्ध तक कई घंटों तक कम्प्यूटर के सामने बैठे रहते हैं, सिरदर्द एक आम बात है। अधिक देर तक टीवी देखने से भी सिरदर्द हो सकता है।

सिरदर्द का कारण जानने के लिए काफी समय लगता है। अगर आपको तनाव है तो अपने आपको उस तनावपूर्ण वातावरण से दूर रखने का प्रयास करें। बाजार में सिरदर्द की बहुत-सी दवाइयाँ उपलब्ध हैं लेकिन उनका प्रयोग डॉक्टर की सलाह लेकर ही करें। अगर सिरदर्द बिना किसी कारण के लगातार होता है तो एक्सरे या सीटी स्कैन डॉक्टर की सलाह अनुसार कराएँ।

कई बार आप दिन में कुछ नहीं खाते या व्रत रखते हैं तब भी सिरदर्द की शिकायत हो जाती है। कुछ भोज्य पदार्थ चाइनीज फूड, चॉकलेट, पिजा आइस्क्रीम आदि भी किसी-किसी को एलर्जी करते हैं और उन्हें इनके खाने के तुरंत बाद सिरदर्द शुरू हो जाता है। अगर आप कॉफी अधिक मात्रा में पीते हैं और फिर एकदम उसे छोड़ देते हैं तो भी सिरदर्द हो जाता है। नमक की अधिक मात्रा भी इसका एक कारण है।

चाइनीज फूड में सोया सॉस का प्रयोग किया जाता है, जिसमें एक रसायन मोनो सोडियम ग्लूटमेट होता है, जो सिरदर्द का कारण होता है। जिस भी भोज्य पदार्थ के कारण आपको सिरदर्द की शिकायत हो रही है उसे अपने भोजन से निकाल दें। सिरदर्द की कोई भी दवा लेने से पूर्व कारण को जानने का प्रयास करें और डॉक्टर से परामर्श लेते वक्त भी उन्हें बता दें कि आपका दर्द कौन से प्रकार का है ताकि वह आपको सही दवा दे सके।
Powered by Blogger.