Constipation kabaj treatment in hindi desi ilaj,bawaseer qabz ka ilaj in hindi mardana kamzori ka desi ilaj in urdu bachon ki qabz ka desi 
कब्ज मिटाने के सरल उपचार अनियमित खान-पान के चलते लोगों में कब्ज एक आम बीमारी की तरह प्रचलित है। यह पाचन तन्त्र का प्रमुख विकार है कब्ज सिर्फ भूख ही कम नहीं करती बल्कि गेस ,एसिडिटी व् शरीर में होने वाली अन्य कई समस्याएं पैदा कर सकती है बच्चों से लेकर वृद्ध तक इस रोग से पीड़ित रहते हैं

मनुष्यों मे मल निष्कासन की फ़्रिक्वेन्सी अलग-अलग पाई जाती है। किसी को दिन में एक बार मल विसर्जन होता है तो किसी को दिन में 2-3 बार होता है। कुछ लोग हफ़्ते में 2 य 3बार मल विसर्जन करते हैं। ज्यादा कठोर,गाढा और सूखा मल जिसको बाहर धकेलने के लिये जोर लगाना पडे यह कब्ज रोग का प्रमुख लक्षण है।ऐसा मल हफ़्ते में ३ से कम दफ़ा आता है और यह इस रोग का दूसरा लक्षण है। कब्ज रोगियों में पेट फ़ूलने की शिकायत भी साथ में देखने को मिलती है।

Constipation remedy in hindi - यह रोग किसी व्यक्ति को किसी भी आयु में हो सकता है, लेकिन महिलाओं और बुजुर्गों में कब्ज रोग की प्राधानता पाई जाती है। टॉप हाऊFn.com पर Constipation निवारक उपचारों का उल्लेख कर रहा हूं जिनके समुचित उपयोग से कब्ज का निवारण होता है और शरीर में में होने वाले रोगों से बचाव हो जाता है

कब्ज का मूल कारण:  शरीर मे तरलता की कमी होना है पानी की कमी से आंतों में मल सूख जाता है और मल निष्कासन में जोर लगाना पडता है। अत: कब्ज से परेशान रोगी को दिन मे 24 घंटे मे मौसम के मुताबिक 3 से 5 लिटर पानी पीने की आदत डालना चाहिये इससे कब्ज रोग निवारण मे बहुत मदद मिलती है।

भोजन में रेशे की मात्रा ज्यादा रखने से कब्ज निवारण होता है हरी पत्तेदार सब्जियों और फ़लों में प्रचुर रेशा पाया जाता है। मेरा सुझाव है कि अपने भोजन मे करीब 700 ग्राम हरी शाक या फ़ल या दोनो चीजे शामिल करें।

सूखा भोजन ना लें। अपने भोजन में तेल और घी की मात्रा का उचित स्तर बनाये रखें। चिकनाई वाले पदार्थ से दस्त साफ़ आती है।

पका हुआ बिल्व फ़ल कब्ज के लिये श्रेष्ठ औषधि है। इसे पानी में उबालें। फ़िर मसलकर रस निकालकर नित्य ७ दिन तक पियें। कज मिटेगी।
रात को सोते समय एक गिलास गरम दूध पियें। मल आंतों में चिपक रहा हो तो दूध में ३ -४ चम्मच केस्टर आईल (अरंडी तेल) मिलाकर पीना चाहिये। हमेशा कब्ज से पीड़ित लोगों के लिए बादाम का तेल बेहतर विकल्प है| इससे आंत की कार्य क्षमता बढ़ती है | रात को सोते वक्त गुन गुने दूध में बादाम का तेल ३ ग्राम मिलाकर सेवन करें|| तेल की मात्रा धीरे - धीरे बढ़ाक्र ६ ग्राम तक ले जाएँ| | ३०-४० दिन तक यह प्रयोग करने से वर्षों से चली आ रही कब्ज भी जड से खत्म हो जाती है जितने जल्दी हो इलाज करे बरना Fistula भगन्दर हो जायेगा यह और ज्यादा खतरनाक बीमारी है इस रोग के बारे में यहाँ क्लिक कर जाने और हां घरेलू उपायो इलाज करेंगे तो ज्यादा अच्छा रहेगा
Garm Paani aur Nimbu :- Nimbu mein mauzood Citric Acid Pet se jami huyi gandagi ko bahar nikalne ka kaam karti hain. Aap iska sewan 1 Cup Garam Paani mein Nimbu nichodkar kar sakte hain.

Jaitun ka Tel :- Jaitun ka tel aapke pachan tantra ko uttejit kar deta hain , Jisse aapka pet aaram se saaf ho jayega. Subah Khali pet 1 Chammach Jaitun ka tel (Olive Oil) sewan karne se fayda hota hain. Aap chahe to isme Nimbu ka ras bhi mila kar pee sakte hain.

Amrood aur Papita :- Yeh dono phal kabz rogi ke liye amrit ke samaan hain. Yeh Phal din mein kisi bhi samay khaye ja sakte hain. In phalo mein prayapt matra mein resha hota hain jo Aanto ko shakti deta hain.

Fiber wale aahaar :- Beans, Sabut Anaaz wali bread, Gobhi, Aaloo, Patta Gobhi, Tamatar, Gajar, Pattedar Sabziya, Pyaz aadi khayiye. Reshayukt aahaar aaraam se hazm bhi ho jata hain aur kabz ki samsya ko bhi mita deta hain. Fruits mein aap Kela, Papita, Kharbooz, Nimbu, Aam, Seb aur Mosambi aadi khani chahiye.

Baking Soda :- Baking Soda ke sewan se kabz 95% tak theek ho sakta hain. Iska sewan karne ke liye 1/4 cup garam paani mein 1 T-spoon Baking Soda mila kar piya jaye. Baking soda ko aam bol chal ki bhasha mein Mittha Soda bhi kaha jata hain.

Dahi :- Kabz ki samsya ko door karne ke liye pet mein good bacteria ka hona bahut hi jaroori hain. Saadi Dahi se aapko Pro biotic milega Iske liye aap din bhar mein 1-2 cup dahi ka sewan jaroor kare. Ise breakfast mein khaye.
Khajoor aur Doodh :- Halke garam doodh mein 3 Khazoor dalkar sewan kare. Iska sewan hafte bhar tak kare, Aapko jaroor aaraam milega.
Doodh aur Ghee :- Ek glass doodh mein 1-2 chammach Ghee mila kar raat ko sone se pahle peene se kabz puri tarah se gayab ho jata hain.

Alsi ke beej :- Alsi ke beej ko aanch par halka sa bhun kar powder bana le. Phir ek glass paani mein 20 Gram powder dale aur 3 Ghante tak galne ke baad usay chhan kar pee le.

Isabgol ki bhusi :- Yeh Kabz mein param hitkari hain. Doodh ya paani ke saath 1-2 Chammach Isabgol ki bhusi ko raat ko sone se pahle le. Yeh aanto ki prakriya ko tez karta hain, Jisse pet khul kar saaf ho jata hain.

Triphala Churan :- Triphala Churan ko Shahad ke saath mix karke din mein 2 baar khana chahiye. Yeh ek Ayurvedic upchar hain.

Anjeer :- Ek glass doodh mein tazi anjeer dal kar ubaal le. Phir ise raat ko sone se pahle pee le. Anjeer mein kafi saara Fiber hota hain Jisse turant rahat milti hain.

Patta Gobhi ka Juice :- Din mein aadhaa glass Patta Gobhi ka juice peene se kabz mein rahat milti hain.

Palak ka juice :- Roj din mein aadhaa glass palak ka juice piye. Isse aapko Jaroor aaraam milega.

Pranayam aur Yoga :- Is rog ko door bhagane ke liye pranayam aur Yoga bhi faydemand hote hain.

Que.Ans

  1. Kabz me doctor befool patients
    Going
    3times for stool is not a kabz

    Loose motion
    Diarrhea
    Water khatam
    Misconception

    Amazee RAKESH

    ReplyDelete
  2. Sangita, 1780 me krine gram coffee aato he?

    ReplyDelete
  3. Chalne k bad bhi pet andar nai jata .
    Me day me 10 km chqlta hu ya USSR jyada tabhi bhi.
    Upai bataye

    ReplyDelete
  4. Mughe letreen khul k nahi aati h jisse ki bajheh we mughe acidity & gas's ki samsaya rehti h

    ReplyDelete
  5. Sir mughe lettreen khul k nahi aati h jiski bjhah she mughe acidity or gas's ki problem hoti h

    ReplyDelete
  6. रसायनों के छिड़काव की पैदावार युक्त सब्जी से और हमारे जीवन के चक्कर से इस तरह की समस्याएं बेहद आम होती जा रही हे READ - पेट में गैस की समस्या लक्षण घरेलू उपाय इलाज thanks for u asking que.

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  8. मुझे भी कब्जीयत है
    बहुत परेशान हु
    गैस की वजह से या किस वजह से
    सास फुलता
    है .कोई उपाय है तो बताओ plz

    Doctor alrzy bataya he
    Dawa se Aram ho jata he Fir wahi hal
    Pata nhi kya ho gya

    ReplyDelete

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..